scriptwho held a meeting on coronavirus new variant B.1.1.529 | B.1.1.529: कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर WHO ने की बैठक, जल्द ही देशों के लिए जारी हो सकती हैं गाइडलाइन | Patrika News

B.1.1.529: कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर WHO ने की बैठक, जल्द ही देशों के लिए जारी हो सकती हैं गाइडलाइन

कोरोना के नए वेरिएंट B.1.1.1.529 को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सलाहकारों ने आज एक अहम बैठक की। विश्व स्वास्थ्य संगठन की टेक्निकल लीड मारिया वान केरखोव का कहना है कि अभी कोरोना के इस नए वेरिएंट को लेकर काफी जानकारी जुटाने की जरूरत है।

नई दिल्ली

Published: November 26, 2021 08:54:36 pm

नई दिल्ली। तीन देशों में पाए गए कोरोना के नए वेरिएंट B.1.1.1.529 ने दुनियाभर की चिंता बढ़ा दी है। इसको लेकर आज विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सलाहकारों ने आज एक अहम बैठक की। बताया गया कि यह बैठक वर्चुअल माध्यम से की है, इस दौरान विशेषज्ञों ने कहा कि कोरोना का नया वेरिएंट बीते दिनों सामने आए कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से भी ज्यादा संक्रामक है। हालांकि अभी तक इस संबंध में कोई जानकारी सामने नहीं आई है कि कोरोना के टीके इस नए वेरिएंट पर प्रभावी हैं या नहीं। इसके साथ ही WHO जल्द ही देशों के लिए गाइडलाइन भी जारी कर सकता है।
who held a meeting on coronavirus new variant B.1.1.529
who held a meeting on coronavirus new variant B.1.1.529
बता दें कि कोरोना का नया वेरिएंट सामने आने के बाद यूरोपियन यूनियन समेत दुनियाभर के कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाले विमानों पर रोक लगा दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बैठक में WHO ने कई अहम फैसले लिए हैं। इस दौरान तय किया गया कि इस नए वैरिएंट को 'वैरिएंट आफ कंसर्न' या वैरिएंट आफ इंट्रेस्ट में से कौन सी श्रेणी में रखा जाए। विशेषज्ञों का कहना है कि अभी इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है सिर्फ इतना पता है कि इस वैरिएंट में बड़ी संख्या में म्यूटेशन हुआ है और चिंता की बात यह है कि जब म्यूटेशन ज्यादा होता है, तो यह वायरस के व्यवहार पर प्रभाव डाल सकता है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन की टेक्निकल लीड मारिया वान केरखोव का कहना है कि अभी कोरोना के इस नए वेरिएंट को लेकर काफी जानकारी जुटाने की जरूरत है। अभी हमें यह समझने में कुछ सप्ताह लगेंगे कि इस वैरिएंट का कोरोना के किसी टीके पर क्या प्रभाव पड़ता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि अभी कोरोना के B.1.1.529 वेरिएंट पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। वहीं यह जानकारी भी सामने आ रही है कि यह वेरिएंट AIDS मरीज से विकसित हुआ है, जो अपना इलाज अच्छी तरह से नहीं करवा रहे हैं। इस वेरिएंट के प्रतिरक्षाविहीन व्यक्ति के पुराने संक्रमण के दौरान विकसित होने की आशंका है।
यह भी पढ़ें

15 दिसंबर से शुरू होंगी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, कोरोना के नए वेरिएंट के बीच भारत ने लिया फैसला

बता दें कि बी.1.1.529 नया वेरिएंट का पहला मामला 11 नवंबर को बोत्सवाना में सामने आया है। इसके तीन दिन बाद दक्षिण अफ्रीका में भी इसी वेरिएंट की पुष्टि की गई। साथ ही हॉन्ग कॉन्ग में 36 साल के एक शख्स में यह वेरिएंट मिला है, जो 22 अक्टूबर से 11 नवंबर तक दक्षिण अफ्रीका में लौटा है। 13 नवंबर को कोरोना परीक्षण के दौरान उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई, इसके बाद से वह क्वांरटाइन है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.