भारत बंद के दौरान नीमच जिले में 69 कांग्रेसियों ने दी गिरफ्तारी

भारत बंद के दौरान नीमच जिले में 69 कांग्रेसियों ने दी गिरफ्तारी

harinath dwivedi | Publish: Sep, 10 2018 12:57:27 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

पूर्व विधायक सहित महिला नेत्रियों ने भी दी गिरफ्तारी

नीमच. पेट्रोल डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों के विरोध में कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया था। जिले में प्रतिबंधात्मक आदेश लागू होने के बाद भी कांगे्रस नेताओं रैली निकाली और प्रदर्शन किया। इसके विरोध में सोमवार को जिले में कांग्रेस के कुल 69 पदधिकारियों और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया।

कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई
भारत बंद के दौरान नीमच जिला मुख्यालय पर कांग्रेसियों का पुलिस से विवाद हो गया। सुरक्षा की दृष्टि से जिला कांग्रेस कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। कांग्रेस नेताओं ने इसका विरोध किया। इसके बाद वहां से पुलिस बल हटा लिया गया। जिला मुख्यालय पर कांग्रेस नेताओं और पुलिस के बीच हल्का विवाद होने के बाद कांग्रेस नेता विजय टॉकीज चौराहे पर धरने पर बैठ गए थे। कांग्रेस नेता रैली निकालने की जिद पर अड़े थे। रैली निकालने की अनुमति नहीं होने और जिले में सुरक्षा की दृष्टि से प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत धारा 144 लागू होने पर पुलिस ने रैली निकालने की अनुमति नहीं दी। इसके बाद भी कांग्रेस नेता रैली के रूप में निकले। पुलिस सभी कांग्रेसियों को रैली के रूप में कैंट थाने ले आई। इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने थाने पर ही धरना दे दिया। थाने पर बिना अनुमति रैली निकालने के विरोध में पुलिस ने कांग्रेस नेताओं के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। कैंट थाने पर पूर्व विधायक नंदकिशोर पटेल, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष आशा सांभर, जिला कार्यवाहक अध्यक्ष हाजी बाबू सलीम, नीमच ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ब्रजेश सक्सेना, जिला प्रवक्ता ब्रजेश मित्तल, पार्षद योगेश प्रजापति आदि ने गिरफ्तारी दी। जिला मुख्यालय पर कुल 42 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। जावद में कांग्रेस नेता समंदर पटेल के नेतृत्व में कुल 13 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। मनासा में जबरन बंद कराने निकले 14 कांग्रेसियों के खिलाफ पुलिस ने धारा 151 के तहत कार्रवाई की। इस प्रकार जिले में कुल 69 कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की।
पेट्रोल डीजल मूल्य वृद्धि के विरोध में बुलाया बंद
लगातार बढ़ रहे पेट्रोल डीजल के दामों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस ने भारत बंद का आह्वान किया था। इसके चलते रविवार को जिला मुख्यालय पर कांग्रेस नेताओं ने एक एक दुकान पर पहुंचकर गुलाब के फूल भेंट किए थे और दुकानदारों से भारत बंद का समर्थन करने की अपील की थी। इसका कुछ हद तक असर भी दिखा। बारादरी क्षेत्र में लगने वाले चाय नाश्ते की होटल और ठेले नहीं लगे। सुबह सुबह लोगों को चाय नाश्ता के लिए इस क्षेत्र के परेशान होना पड़ा। भारत बंद कराने के लिए सुबह से ही कांग्रेस जिला कांग्रेस कार्यालय पर जमा होने लगे थे। इस दौरान पुलिस की भी माकूल व्यवस्था थी। जिला कांग्रेस कार्यालय के बाहर पुलिस बल तैनात होने पर कांग्रेस नेताओं ने इसका विरोध किया। पुलिस अधिकारियों कांग्रेस नेताओं को चेतावनी दी कि खुली दुकानों को जबरन बंद नहीं कराया जाए। इसके बाद कांग्रेस कार्यालय के बाहर से पुलिस ने बल हटा लिया। इसके बाद कांग्रेस नेता विजय टॉकीज चौराहे पर जमा हुए। वहां पुलिस ने उन्हें रोक दिया और गिरफ्तार करने की बात कही। इसका कांग्रेसियों ने विरोध किया और सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। विवाद बढऩे पर कांग्रेस नेता नारे लगाते हुए कैंट थाने पहुंच और वहां धरने पर बैठ गए।
पेट्रोल पम्प संचालकों ने खुले रखा
इस बीच जिला पेट्रोलियम एसोसिएशन ने कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन नहीं करने का निर्णय लिया। सोमवार को जिला मुख्यालय के सभी पेट्रोल पम्प खुले रहे। सुरक्षा की दृष्टि से वहां पुलिस बल तैनात किया गया था। इसी तरह ट्रांसपोर्ट ऐसोसिएशन ने भी भारत बंद का समथर्न नहीं करने का निर्णय लिया। एसोसिएशन के अध्यक्ष धनसिंह वर्मा ने बताया कि हम सपाक्स के साथ है। हम बंद का समर्थन नहीं करेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned