उग्र हुए विद्यार्थी, उच्च शिक्षा विभाग के खिलाफ प्रदर्शन

harinath dwivedi

Publish: Mar, 14 2018 01:22:03 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 01:22:04 PM (IST)

Neemuch, Madhya Pradesh, India
उग्र हुए विद्यार्थी, उच्च शिक्षा विभाग के खिलाफ प्रदर्शन

- जिन्होने परीक्षाएं दी उन्हें तक बता दिया अनुपस्थित
- परीक्षा परिणामों में गड़बडिय़ों से आक्रोशित हुए विद्यार्थी

नीमच. विक्रम विश्व विद्यालय की कारगुजारियों के कारण विद्यार्थियों में असंतोष उपज रहा है। इस बार बीए, बीएससी के विभिन्न सेमेस्टरों में विद्यार्थियों के परीक्षा परिणामों में भारी गड़बडिय़ां सामने आई हैं। आक्रोशित विद्यार्थियों ने पीजी कॉलेज में जबरदस्त प्रदर्शन किया और प्राचार्य को ज्ञापन दिया।
बुधवार को बड़ी तादाद में विद्यार्थी शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में एकत्रित हुए और करीब ११ बजे प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस बार विद्यार्थियों का नेतृत्व कोई एक संगठन नहीं कर रहा था, बल्कि सभी संगठनों के विद्यार्थी इसमें संयुक्त रूप से सम्मिलित हुए। उच्च शिक्षा विभाग और विक्रम विश्व विद्यालय के विरोध में जोरदार नारेबाजी की गई। विद्यार्थियों का कहना था कि पिछले महीनों में हुई विभिन्न सेमेस्टरों की परीक्षाओं के जो परिणाम प्राप्त हुए हैं उनमें अधिकांश विद्यार्थी फैल हुए हैं। मामला यहीं तक नहीं है जो विद्यार्थी उपस्थित रहे और परीक्षाएं दी हैं उन्हें तक अंकसूची में अनुपस्थित दर्शा दिया गया है। कुछ विद्यार्थियों को इसी माह विभिन्न प्रतियोगी और शासकीय सेवाओं के आवेदन करने हैं, ऐसे में उनके लिए मुसीबत खड़ी हो गई है।
विद्यार्थियों का कहना है कि पिछले वर्ष भी परीक्षा परिणामों में गड़बडिय़ों के कारण विद्यार्थियों को आंदोलन करना पड़ा था। तब आंशिक सुधार हुए थे। समस्या यह भी है कि आंदोलन किए बगैर विश्वविद्यालय प्रशासन किसी समस्या को समझने के लिए भी तैयार नहीं है।
विद्यार्थियों ने शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय परिसर में करीब डेढ़ घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया, इसके बाद प्राचार्य डा.वीके जैन को कुलपति विक्रम विश्वविद्यालय के नाम ज्ञापन देकर मांग की गई कि परीक्षा परिणामों में अविलंब सुधार किया जाए। साथ ही चेतावनी दी गई है कि जल्द ही सुधार नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।
प्रदर्शनकारियों में स्वामी विवेकानंद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय की छात्र संघ अध्यक्ष मेघा तिवारी सहित छात्र संघ पदाधिकारी तथा विभिन्न छात्र संगठनों के कार्यकर्ता मौजूद रहे। यहां पर विरोध प्रदर्शन के बाद इन विद्यार्थियों ने नीमच-मनासा मार्ग पर सांकेतिक चक्काजाम किया। विद्यार्थियों की मांग थी कि परीक्षा का समय नजदीक है ऐसे में गावों में विद्यार्थियों के लिए बसें रोकी जाएं। कई बस चालक विद्यार्थियों को देखकर बसों को आगे बढ़ा देते हैं।
--------------------

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned