सीआरपीएफ में आम जनता के लिए बनाया आइसोलेशन वार्ड

डीआईजी ने कहा जनता अफवाहों पर ध्यान न दे

नीमच. कोरोना वायरस जिस स्तर पर पहुंच रहा है इसे दृष्टिगत रखते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल परिसर में भी आम जनता के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। कोरोना से पीडि़त कोई भी मरीज हो उसे सीआरपीएफ में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करने की व्यवस्था की गई है।
अफवाहों पर ध्यान न दें
केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के डीआईजी आरएस रावत ने बताया कि कोरोना वायरस को प्रत्येक व्यक्ति गंभीरता से ले। किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। सीआरपीएफ नीमच में एक भी कोरोना वायरस पीडि़त मरीज नहीं है। एक जवान को सर्दी-जुखाम हुआ था। उसने जिला चिकित्सालय में उपचार कराया था। जांच में किसी प्रकार के कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए। इस तरह के मरीज को प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। इसका आशय यह नहीं होता कि उन्हें कोरोना हो गया है। हमने आम जनता तक के लिए सीआरपीएफ परिसर में आइसोलेशन वार्ड स्थापित किया है। यदि किसी भी व्यक्ति को कोरोना वायरस होने की आशंका हो तो वह सम्पर्क कर सकता है। पूरे सीआरपीएफ परिसर को पूरी तरह से सुरक्षित कर दिया गया है। प्रत्येक व्यक्ति को मास्क लगाने और अपने हाथ नियमित रूप से धोने की हिदायत दी गई है। सीआरपीएफ परिसर के मेन गेट पर यदि कोई व्यक्ति संदिग्ध दिखाई देता है तो उसे सीधे अस्पताल लेकर जा रहे हैं। वहां उसका उपचार किया जा रहा है। इसके बाद उसे घर भेजा जा रहा है।
प्रदेश में एक भी मरीज नहीं
अब तक मिली जानकारी अनुसार प्रदेश में एक भी कोरोना पीडि़त मरीज चिह्नित नहीं हुआ है। सीआरपीएफ का एक जवान आया था। उसने बताया था कि वो आगरा से होकर यहां आया है। उसे सर्दी-जुखाम था। प्राथमिक उपचार कर घर भेज दिया है। उन्हें निर्देश दिए हैं कि वे दो सप्ताह तक घर पर ही रहें। उनके किसी प्रकार के कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए हैं। सोशल मीडिया पर इस तरह की फैल रहे अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। स्वास्थ्य विभाग की ओर से पूरे इंतजाम किए गए हैं।
- डा. बीएल रावत, सिविल सर्जन

Show More
Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned