यहां भी हो गया एट्रोसिटी एक्ट में मुकदमा दर्ज

यहां भी हो गया एट्रोसिटी एक्ट में मुकदमा दर्ज

harinath dwivedi | Publish: Sep, 08 2018 11:16:39 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

- दो पक्षों में हुआ था विवाद
-त्यौहार के समय झगड़ लिए, पुलिस ने तुरंत की कार्रवाई

नीमच. संसद में कानून पारित होने के बाद एट्रोसिटी एक्ट का पहला मामला नीमच के बघाना थाने पर दर्ज हुआ है। सामान रखने की बात पर एक विवाद में दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई थी। इसमें एक पक्ष के तीन लोगों के खिलाफ जानलेवा हमला करने और एट्रोसिटी एक्ट का प्रकरण दर्ज हुआ है।
गौरतलब है कि हाल ही में एट्रोसिटी एक्ट को लेकर काफी हल्ला मचा हुआ है। विरोध इस बात को लेकर हो रहा है कि इस एक्ट में प्रकरण दर्ज होते ही तत्काल गिरफ्तारी की जानी है। जांच या जमानत की प्रक्रिया पर भी विवाद है। इसी बीच एक विवाद के मामले में इस एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज हुआ है। चूंकि त्यौहार नजदीक है, चुनाव को लेकर भी पुलिस, प्रशासन द्वारा काफी सतर्कता बरती जा रही है। लगातार प्रचारित किया जा रहा है कि त्यौहार के दिनों में ऐसी कोई घटना न हो जिससे गलत संदेश जाए।
शुक्रवार रात एकता कॉलोनी में दो पक्षों में केवल बाइक और सामान रखने की बात पर गंभीर विवाद हो गया। दोनो पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई। विवाद के बाद करीब आधा दर्जन लोग घायल अवस्था में जिला चिकित्सालय में भर्ती किए गए थे। यहां पर देर रात तक पुलिस ने दोनो पक्षों के बयान लिए और उसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने काफी मंथन किया। तब बघाना थाने पर प्रकरण दर्ज किए गए हैं। एक पक्ष के आकाश और मनीष पिता नरेंद्र पारदी के खिलाफ मारपीट, धमकी, विवाद करने की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है। जबकि दूसरे पक्ष के आजाद खां पिता रमजानी, इकरार पिता आजाद, मोहम्मद इमरान पिता आजाद के खिलाफ धारा 307, अनुसूचित जाति जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम 1989 (संशोधन 2015) की धारा 3(2) के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

-दो पक्षों में विवाद हुआ था। मेडिकल और बयानों के आधार पर दोनो पक्षों पर कार्रवाई की गई है। नीमच में नई विधि व्यवस्था के अनुसार यह पहला एट्रोसिटी का मामला दर्ज हुआ है। विवेचना की जा रही है, आरोपियों की गिरफ्तारी से लगाकर तमाम प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं। - नरेंद्र सौलंकी, सीएसपी नीमच

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned