यह क्या हुआ कमलनाथ की सभा से पहले

यह क्या हुआ कमलनाथ की सभा से पहले

harinath dwivedi | Publish: Sep, 10 2018 10:25:11 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 10:25:12 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

- प्रशासन की टीम ने खंगाल दिए पोल, चौराहे
- भाजपा को भी झेलनी होगी परेशानी

नीमच. प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलनाथ का प्रवास १२ सितंबर को नीमच में है। वे यहां रोड़ शो करेंगे और दशहरा मैदान पर सभा को संबोधित भी करेंगे। उनके समर्थकों और कांग्रेसियों ने इसकी जोरशोर से तैयारी की है लेकिन उनके मंसूबों पर प्रशासन की एक कार्रवाई से पानी फिर गया। हालांकि कार्रवाई की जद में भाजपा भी आई है लेकिन उतनी नहीं। इधर प्रशासन ने चेतावनी भी दे दी है कि कार्रवाई तो लगातार जारी रहेगी।
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के कार्यक्रम के दो दिन पहले ही नगरपालिका ने संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत मोर्चा खोला है। शहर की शासकीय, सार्वजनिक संपत्तियों पर लगे कांग्रेस के तमाम बैनर और पोस्टर हटा दिए गए हैं, हालांकि कुछ स्थानों पर भाजपा के पोस्टर और बैनर भी हटाए गए हैं।
गौरतलब है कि १२ सितंबर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की नीमच के दशहरा मैदान में सभा है। कांग्रेसियों ने इसकी जोरशोर से तैयारियां शुरू कर दी। दो दिन पहले ही शहर के मुख्य बाजार टैगोर मार्ग पर विभिन्न स्थानों पर कमलनाथ के समर्थकों द्वारा बड़ी संख्या में पोस्टर और बैनर लगवा दिए गए थे। धीरे धीरे शहर की सजावट कांग्रेस की प्रचार सामग्री से होने लगी थी।
इधर सोमवार को कांग्रेस ने भारत बंद का आव्हान किया था। इस बीच भाजपा के बाबूलाल नागदा ने शासकीय और सार्वजनिक संपत्तियों पर कांग्रेस के पोस्टर और बैनर लगे होने की शिकायत सीएमओ, एसडीएम और कलेक्टर को की। इसके बाद प्रशासन के निर्देश पर नगरपालिका के स्वच्छता निरीक्षक श्याम टांकवाल के साथ पूरा अमला बाजार में निकल पड़ा। शुरूआत सीआरपीएफ रोड़ से की गई। इसके बाद टैगोर मार्ग पर काटजू मार्केट के ऊपर लगे बैनर और पोस्टर हटा दिए गए। फोर जीरो विद्युत केंद्र की बाउंडरी और फ्रेम पर लगे पोस्टर भी हटाए। साथ ही टैगोर मार्ग के विद्युत पोल पर लगे छोटे छोटे पोस्टर, फव्वारा चौक, कमल चौक पर से भी पोस्टर हटाए गए। हालांकि इस कार्रवाई में भाजपा के पोस्टर बैनर भी नपा अमले के हत्थे चढ़े। कुछ स्थानों पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह की जनआशीर्वाद यात्रा के समय लगे बैनर चौराहों, विद्युत पोल पर लगे थे उन्हें हटवाया गया।
नपा अधिकारियों ने बताया कि अब रोजाना संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत सार्वजनिक और शासकीय संपत्तियों पर लगी प्रचार, प्रसार की सामग्री हटाने का अभियान चलेगा। निर्वाचन आयोग को रोजाना रिपोर्ट जाएगी।

Ad Block is Banned