जो किसान हित की बात करेगा वही देश पर राज करेगा

-भारतीय किसान संघ की जिला बैठक सम्पन्न

By: Mahendra Upadhyay

Published: 29 Mar 2019, 08:05 PM IST

नीमच. जो राजनैतिक दल किसानों की समस्याओं का स्थाई समाधान करेगा और किसान द्वारा फसलों की उपज में जो वास्तविक मेहनत का लाभकारी मूल्य दिलायेगा, किसान को रोजगार के क्षेत्र में आत्मनिर्भर करने में जो राजनैतिक दल सहायता करेगा। जो दल किसान हित की बात करेगा वही देश पर राज करेगा। यह बात भारतीय किसान संघ मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के क्षेत्रीय संगठन मंत्री महेश चौधरी ने कही।
वे बुधवार शाम शिवघाट पर भारतीय किसान संघ की जिला बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे । उन्होंने कहा कि किसान संघ न कर्जमाफी के पक्ष में है न विरोध में है। सरकार ने किसानों को दो लाख कर्ज माफी के नाम पर गुमराह किया है। सकरार ने चुनाव से पूर्व 10 दिन में कर्जमाफी का वादा किया था। जो चार माह में भी पूरा नहीं हुआ उसे शीघ्र पूरा करें ।
कर्जमाफी के लिए आचार संहिता की आड़ लेना अनुचित है। किसान संघ से जुड़े किसानों की मेहनत से ही सरकार ने कृषि कर्मण पुरस्कार भारत सरकार से ५ बार प्राप्त किया है । किसान कार्यकर्ता राजनैतिक पार्टियों के झूठे छलावे व लालच में नहीं आए। पहले ही 2 लाख रुपए के लालच में किसान स्वयं को ठगा हुआ महसूस कर रहा है । यदि सरकार द्वारा सोसायटियों की अंशदान पूंजी वापस ली गई तो किसान वापस व्यापारियों के चुंगल में फस जाएगा। पूर्व तत्कालिन मप्र शासन के सहकारिता मंत्री गोविन्दसिंह ने ही तिलहन संघ बंद कराया और वे ही सहकारी सोसायटियों को बंद कराने की साजिश फिर कर रहे है। जब अंशपूंजी का मालिक किसान है। यह कर्जमाफी की गलत नीति है। इन दिनों किसान भयभीत है वह माल तुलाने ही नहीं जा रहा है कि कहीं पैसा न कट जाए। उन्होंने कहा कि किसान संघ में रहकर किसान के व्यक्तित्व का निर्माण होता है। उसकी शासन प्रशासन और ग्रामीण क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनती है। किसान अपनी फसल का मूल्य स्वयं तय करे। बैठक में किसान संघ जिलाध्यक्ष मांगीलाल पाटीदार, जिलामंत्री गोपाल जाट, कोशाध्यक्ष निलेश पाटीदार, जिला सहमंत्री विष्णुप्रसाद नागदा, जगदीश कुमावत, मानसिंह राणा, आदि उपस्थित रहे। बैठक के मध्य सभी किसान संघ पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को उनके क्षेत्र के किसानों भारतीय किसानसंघ से जुड़ी जानकारियों से अवगत कराने के उद्देश्य से 1000 पुस्तकों का वितरण किया गया है।
------------------

Mahendra Upadhyay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned