एटीएम कटिंग का यह आरोपी है अलीगढ़ यूनिवर्सिटी का टॉप ग्रेड वेट लिफ्टर

एटीएम कटिंग का यह आरोपी है अलीगढ़ यूनिवर्सिटी का टॉप ग्रेड वेट लिफ्टर

harinath dwivedi | Updated: 11 Jun 2018, 06:06:08 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

-मामला एटीएम कैशबॉक्स सहित १७ लाख चोरी की वारदात का
-आरोपी को जेल भेजा

नीमच. एटीएम कैशबॉक्स सहित १७ लाख चोरी की वारदात में पकड़ा गया दूसरा मुख्य आरोपी अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी में बीपीएड(बैचलर ऑफ फिजिकल एज्युकेशन) का छात्र है और टॉप ग्रेड का वेट लिफ्टर है।इस छात्र ने एटीएम बे्रकर गिरोह के प्रलोभन में आकर इस तरह की वारदातों को अंजाम देना शुरू किया। रिमांड के बाद उसे जेल भेज दिया गया है।
गौरतलब है कि नीमच में २३ मार्च की रात में महू रोड़ पर माधोपुरी बालाजी मंदिर के समीप एसबीआई के एटीएम कटिंग कर कैशबॉक्स सहित १६ लाख ७९ हजार ७०० रुपए चोरी की सनसनीखेज वारदात हुई थी। इस वारदात की पहली कड़ी के रूप में नीमच के विशेष पुलिस दस्ते ने आरोपी राजू उर्फ ताहिर मेवाती निवासी बुराखा, जिला पलवल हरियाणा को गिरफ्तार किया था। इस आरोपी के हत्थे चढऩे के बाद वारदात की कडिय़ां जुड़ती गई।इस वारदात के दूसरे मास्टर माइंड आदिल खान पिता मेहबूब खान चौधरी (23) निवासी श्यामनगर, पलवल (हरियाणा) को विशेष टीम ने अलीगढ़ उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार किया। रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ की गई तो चौंकाने वाली जानकारियां मिली। आरोपी आदिल दिल्ली पुलिस में तैनात एएसआई का बेटा है। वह शारीरिक शिक्षा में स्नातक कर रहा है, और यूनिवर्सिटी का टॉप वेट लिफ्टर है।बताया गया है कि जब पूछताछ टीम ने उससे इतनी बड़ी उपलब्धि के बावजूद अपराध से नाता जोडऩे के बारे में पूछा तो उसने गिरोह के सदस्यों द्वारा दिए गए प्रलोभन में आकर वारदातें करना बताया। जानकारी मिली है कि नीमच में एटीएम ब्रेक के बाद भी गिरोह ने दो तीन स्थानों पर ट्रक कटिंग की वारदातें की हैं। जानकारी यह भी मिली है कि आरोपी आदिल ने गिरोह के शातिर सदस्यों की तरह अपना भी मोबाइल बंद कर लिया था। लेकिन वह गर्ल फ्रेंड के चक्कर में धरा गया।
कार और ट्रक के बारे में जुटाई जानकारी-
आदिल से पुलिस ने नीमच की वारदात में चुराई गई राशि में से १ लाख ६५०० रुपए जब्त किए हैं, जबकि शेष राशि उसने कैफ पिता कमेउद्दीन निवासी अंदरोला, जिला पलवल हरियाणा को देना बताया। जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। बताया गया है कि वारदात में इस्तेमाल की गई कार आरोपी कैफ के पिता के नाम पर है।जबकि ट्रक किसी अन्य व्यक्ति की है जिसे उसका चालक ले आया था। यह गिरोह कार और ट्रक वारदात के दौरान साथ लेकर चलता है।
इस वारदात के सिलसिले में पुलिस कोजल्द ही बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद है।एसपी तुषारकांत विद्यार्थी ने ६ सदस्यीय टीम की मॉनिटरिंग में संयुक्त दस्ते को लगाया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned