दिल्ली: लोकसभा चुनाव में भाजपा की ओर से मैदान में उतर सकते हैं गौतम गंभीर

दिल्ली: लोकसभा चुनाव में भाजपा की ओर से मैदान में उतर सकते हैं गौतम गंभीर

Shweta Singh | Publish: Mar, 08 2019 02:58:49 PM (IST) | Updated: Mar, 08 2019 06:48:49 PM (IST) New Delhi, Delhi, Delhi, India

  • क्रिकेटर गौतम गंभीर को पार्टी की तरफ से दिल्ली में टिकट दिया जा सकता है
  • भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने दिया संकेत
  • मीनाक्षी लेखी की सीट पर मिल सकता है टिकट

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर अपनी स्थिति मजबुत करने के लिए हरेक पार्टी अपनी हर मुमकिन प्रयास में जुटी है। इसी कड़ी में भाजपा से एक बड़ी जानकारी सामने आ रही है। दरअसल, संभावना जताई जा रही है कि क्रिकेटर गौतम गंभीर को पार्टी की तरफ से दिल्ली के रण में उतार सकती है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता की ओर दी गई जानकारी के बाद यह दावा जोर पकड़ रहा है। आपको बता दें कि गौतम गंभीर के भाजपा में शामिल होने पर काफी समय से कयास लगाए जा रहे हैं।

गौतम गंभीर के साथ लगातार संपर्क में भाजपा

वरिष्ठ नेता का कहना है कि पार्टी लगातार गौतम गंभीर के साथ संपर्क बनाए हुए है। उनको दिल्ली में मीनाक्षी लेखी की सीट पर उतारने की तैयारी की जा रही है। यही नहीं, एक अन्य भाजपा नेता ने अपनी पहचान न उजागर करने की शर्त पर बताया कि कैसे अनुमान लगाया जा रहा है कि गंभीर राजनीति में शामिल हो सकते हैं। भाजपा नेता के मुताबिक, 'गौतम गंभीर सोशल मीडिया जैसे ट्विटर पर अकसर आम आदमी पार्टी (आप) की आलोचना करते रहते हैं। इससे ही अनुमान लगाया जा रहा है कि वह राजनीति में कदम रख सकते हैं। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि उन्हें किस सीट से टिकट मिलेगा, क्योंकि मीनाक्षी लेखी का लोकसभा में प्रदर्शन भी एक अहम मुद्दा है जिसपर विचार करके ही फैसला किया जाएगा।

आगामी चुनावी में अलग होगी रणनीति

आपको बता दें कि 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में भाजपा ने दिल्ली की सातों सीटों पर जीत हासिल की थी। ऐसे में इस बार पार्टी के सामने सत्ता विरोधी लहर (ऐंटी इनकंबेंसी) से निपटना एक बड़ी चुनौती है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि भाजपा दिल्ली में गंभीर के अलावा एक केंद्रीय मंत्री, विरोधी पार्टी के एक पूर्व सांसद और मौजूदा विधायक को टिकट दे सकती है। साल 2017 के परिणामों का हवाला देते हुए कुछ पूर्व पार्षदों ने भी सुझाया था कि पार्टी नेतृत्व को ऐंटी इनकंबेंसी से निपटने के लिए कुछ मौजूदा सांसदों की जगह नए लोगों को टिकट देना चाहिए। बता दें कि दिल्ली भाजपा को उम्मीदवारी के लिए 25 ऐप्लिकेशन मिले हैं। इनमें पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, पार्षद, बड़े नेता और छात्र नेता रहे सदस्य शामिल हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned