पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह का बयान, कहा- किसान दिल्ली-हरियाणा में करें आंदोलन, पंजाब में आर्थिकता को प्रभावित न करें

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (punjab cm captain amrinder singh) के एक बयान ने सभी को हैरान कर दिया। दरअसल, पंजाब सीएम (punjab cm) ने किया कि किसान दिल्ली और हरियाणा में जाकर प्रदर्शन करें, पंजाब में धरना देकर राज्य की आर्थिकता को प्रभावित न करें।

By: Nitin Singh

Published: 13 Sep 2021, 03:46 PM IST

नई दिल्ली। अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 (punjab assembly election 2022) की तैयारियां शुरु हो गई हैं। इन चुनावों के लिए किसान आंदोलन (farmer protest) एक बड़ा मुद्दा है। यही वजह है कि सभी पार्टियां किसानों को साधती नजर आ रही हैं। इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (punjab cm captain amrinder singh) के एक बयान ने सभी को हैरान कर दिया। दरअसल, पंजाब सीएम (punjab cm) ने किया कि किसान दिल्ली और हरियाणा में जाकर प्रदर्शन करें, पंजाब में धरना देकर राज्य की आर्थिकता को प्रभावित न करें।

सीएम ने किसानों को दी ये सौगात

जानकारी के मुताबिक कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (punjab cm captain amrinder singh) पंजाब के होशियारपुर और नवांशहर जिलों में कार्यक्रमों को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने नवांशहर के बल्‍लोवाल सौंखड़ी में कंडी क्षेत्र के किसानों (farmers) के लिए बड़ी घोषणा की। सीएम कैप्टन ने क्षेत्र में फसलों को जंगली जानवरों से किसानो की फसलों को बचाने के लिए बड़ा ऐलान किया है। सीएम ने फसलों को उजाड़े से बचाने के लिए कांटेदार बाड़ लगाने के लिए दी जाने वाले सब्सिडी को 50 फीसद से बढ़ाकर अब 90 फीसद कर दिया है।

kisan_andolan.jpg

सरकारी कॉजेल की रखी नींव

इससे पहले उन्‍होंने होशियारपुर के हलका चब्बेवाल में सरकारी कॉलेज का नींव पत्थर रखा। इस अवसर उन्‍होंने कहा कि इसके साथ ही 925 सरकारी प्रोफेसरों की पोस्टों पर जल्द निर्णय किया जाएगा। उन्‍होंने कॉलेज का नाम डॉ. बीआर अंबेडकर (dr. bhim rao ambedkar) के नाम पर रखने की घोषणा भी कर दी। इसके साथ ही तीन नए कृषि कानूनों को लेकर विरोध कर रहे किसानों से सीएम ने अपील करते हुए पंजाब में धरना न देने की अपील की है।

यह भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में नहीं थम रही कलह, अब विधायक सुरजीत धीमान बोले- कैप्टन के नेतृत्व में नहीं लड़ूंगा चुनाव

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी पंजाब के किसानों को अपील की कि वे दिल्ली व हरियाणा में विरोध करें, लेकिन पंजाब में धरने देकर राज्‍य की आर्थिकता को प्रभावित न करें। उन्‍होंने कहा कि पंजाब में 113 जगहों पर लगाया गया धरना गलत है। गौरतलब है कि हाल ही में कांग्रेस, आप और अकाली दल ने किसान संगठनों संग बैठक की थी। इस बैठक में किसानों ने सभी पार्टियों से अभी राज्य में चुनावी रैलियां न करने की बात कह थी। इसके साथ ही किसान आंदोलन (farmer protest) का समर्थन करने की अपील भी की थी।

Show More
Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned