scriptजैसीनगर क्षेत्र में डंपर से तीन हादसे, तीन लोग गवां चुके जान, रेत परिवहन अब भी जारी | Three accidents due to dumper in Jaisnagar area, three people lost their lives, sand transportation still continues | Patrika News
समाचार

जैसीनगर क्षेत्र में डंपर से तीन हादसे, तीन लोग गवां चुके जान, रेत परिवहन अब भी जारी

– रेत ढोने में जुटे डंपर हादसों का कारण : – जब लोगों ने विरोध और चक्काजाम किया तब नहीं जागे जिम्मेेदार सागर. जैसीनगर क्षेत्र में फरवरी से लेकर अब तक तीन सड़क हादसों में तीन लोग जान गवां चुके हैं। तीनों हादसे की वजह रेत के करोबार में जुटे डंपर ही रहे हैं। जबकि हादसों […]

सागरMay 14, 2024 / 07:27 pm

Madan Tiwari

– रेत ढोने में जुटे डंपर हादसों का कारण : – जब लोगों ने विरोध और चक्काजाम किया तब नहीं जागे जिम्मेेदार

सागर. जैसीनगर क्षेत्र में फरवरी से लेकर अब तक तीन सड़क हादसों में तीन लोग जान गवां चुके हैं। तीनों हादसे की वजह रेत के करोबार में जुटे डंपर ही रहे हैं। जबकि हादसों को देखते हुए खुद मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने इन डंपर को प्रतिबंधित करने के निर्देश दिए थे। इतना ही नहीं लोगों ने प्रतिबंध के बाद भी सड़कों पर दौड़ रहे इन डंपर पर कार्रवाई करने चक्काजाम किया, लेकिन पुलिस व प्रशासन के जिम्मेदारों ने सांठगांठ के चलते कोई कार्रवाई नहीं की। नतीजतन सोमवार को फिर बस व डंपर की भिडंत हुई और सात यात्री घायल हुए।  
जानकारी के अनुसार डंपर रायसेन जिले के उदयपुरा, बौरास घाट से नर्मदा से निकली रेत लेकर सिलवानी-जैसीनगर होते हुए आते हैं। अधिकांश डंपर ओवरलोड होते हैं। डंपर टोल बचाने जैसीनगर से भापेल रोड होते हुए निकल जाते हैं, जबकि इस मार्ग पर डंपर प्रतिबंधित हैं। इस बात को करीब 15 दिन पहले सरखड़ी में हुए हादसे के दौरान जैसीनगर थाना प्रभारी शिवमंगल सिंह ने भी स्वीकार किया था और कार्रवाई करने की बात की थी, लेकिन हकीकत देखें तो रेत से भरे इन डंपर पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।  

– खनिज विभाग को मतलब ही नहीं 

लगातार हो रहे हादसों के बाद प्रशासन और पुलिस तो कभी-कभी रेत से भरे इन डंपर को जब्त कर दिखावे की कार्रवाई कर ही देते हैं, लेकिन इसके लिए जिम्मेदार खनिज विभाग को तो मतलब ही नहीं है। सोमवार को हुए हादसे के बाद प्रशासन ने मंगलवार को इसी प्रकार दिखावे की कार्रवाई करते हुए एक रेत से भरे ओवरलोड डंपर को जब्त कर थाने में खड़ा करवाया है। तहसीलदार सुनील बाल्मीकि ने बताया कि स्टेट हाइवे-15 पर लगातार दुर्घटनाएं हो रही हैं। मंगलवार को निरीक्षण के दौरान वाहन क्रमांक एमपी 15 एच ए 1339 की जांच की गई, जिसमें क्षमता से ज्यादा रेत का भराव मिला। प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए डंपर को जब्त कर थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिया।  

– यह दो हादसे पहले हो चुके  

– बस-डंपर की भिडंत में तीन की मौत हुई थी 

जैसीनगर थाना क्षेत्र के सागर- सिलवानी स्टेट हाइवे पर स्थित हिन्नखेड़ा गांव के पास दो फरवरी को यात्री बस और रेत से भरे डंपर की भिडंत हुई थी। बस को सामने से आ रहे तेज रफ्तार डंपर ने टक्कर मारी, टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बस और डंपर का अगला हिस्सा पूरी तरह से चकनाचूर हो गया। हादसे में बस व डंपर चालक सहित एक यात्री की मौत हो गई थी। वहीं बस में सवार पांच लोग ऐसे थे जिसमें किसी के दोनों पैर टूट गए थे, किसी का जबड़ा टूटा था,जबकि 25 से ज्यादा यात्री घायल हुए थे।  

– डंपर ने बाइक को कुचला, पिता-पुत्री बाल-बाल बचे  

जैसीनगर थाना क्षेत्र के सरखड़ी गांव में 27 अप्रेल की दोपहर तेज रफ्तार रेत से भरा डंपर अनियंत्रित होकर सड़क किनारे लगे बिजली ट्रांसफर्मर से टकराया और फिर पास में खड़ी मोटर साइकिल को कुचल दिया। दुर्घटना में बाइक सवार पिता-पुत्री की जान बाल-बाल बची थी। घटना देख मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई और गुस्साए ग्रामीणों ने सागर-जैसीनगर मुख्य मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। लोगों का कहना था कि इस मार्ग पर रेत से भरे डंपर दौड़ रहे हैं, जबकि पूर्व में हुई घटनाओं के बाद इस मार्ग से भारी वाहनों के प्रवेश को प्रतिबंधित किया गया है।  

– प्रतिबंधित नहीं हैं 

यह चर्चा जरूर है कि यहां से रेत के डंपर प्रतिबंधित है, लेकिन इसको लेकर कोई लिखित आदेश नहीं है। हादसे के बाद डंपर चालक के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया है।  
शिवमंगल सिंह, थाना प्रभारी, जैसीनगर

Hindi News/ News Bulletin / जैसीनगर क्षेत्र में डंपर से तीन हादसे, तीन लोग गवां चुके जान, रेत परिवहन अब भी जारी

ट्रेंडिंग वीडियो