मिनरल वॉटर से हाथ धोते हैं बीजेपी के ये केंद्रीय मंत्री, जहां लोगों को पीने के लिए पानी भी मयस्सर नहीं

मंत्री जी ने मिनिरल वाटर से ने हाथ धोकर सफाई का बताया महत्व

By: Ashutosh Pathak

Published: 16 May 2018, 12:14 PM IST

नोएडा। देश के अभी कई हिस्से ऐसे हैं जहां साफ पानी तो दूर लोगों को पानी पीने तक नसीब नहीं होता। उत्तर प्रदेश में गर्मी बढ़ने के साथ ही लोगों को पानी की किल्लत से से जूझना पड़ रहा है। लेकिन आप को जान कर हैरानी होगी जहां प्रदेश की जनता को पीने के लिए पानी के लिए रोज दो-चार होना पड़ रहा है वहां केंदीय मंत्री जी मिनपल वॉटर से हाथ धोते हैं।

यह भी पढ़ें : मायावती के इस कदम ने बढ़ाई अखिलेश यादव की बेचैनी

मामला सूबे के सबसे हाईटेक सिटी नोएडा का जहां सरकार दावा करती है कि वह नोएडावासियों को पीने के लिए गंगा वाटर सप्लाई करती है। लेकिन जिस पानी को पी कर लाखों नोएडावासी अपनी प्यास बुझाते है, उस पानी से केंदीय मंत्री संतोष गंगवार को हाथ धोना भी गवारा नहीं है और वो हाथ धोने की काला सीखाने के लिए नोएडा आए तो मिनिरल वाटर का इस्तेमाल करते नजर आए।

यह भी पढ़ें : पिता की एेसी हरकतों पर बेटी को लेकर मां रात में ही पहुंच गर्इ थाने, पुलिस ने वापस भेज दिया घर...

दरअसल नोएडा में सेक्टर 24 स्थित ईएसआई हास्पिटल में स्वच्छता अभियान का कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसस में केंद्रीय राज्यमंत्री संतोष गंगवार भी शामिल होने आए थे। लेकिन लोगों को स्वच्छला का पाठ पढ़ाने के लिए उन्होंने मिनरल वॉटर का इस्तेमाल किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार ने महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर संपूर्ण स्वच्छता का संकल्प लिया था। उस संकल्प को पूरा करने के लिए जोर-शोर से प्रयास किए जा रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान अस्पताल के लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई, साथ ही हाथ को कैसे धोना चाहिए और सफाई के महत्व को बताया गया।

यह भी पढ़ें : उपचुनाव से पहले नरेंद्र मोदी विचार मंच से जुड़े इस भाजपा नेता ने की शर्मनाक हरकत, दर्ज हुआ मुकदमा

आपको बता दें कि नोएडा की स्थापना को 42 वर्ष पूरे हो चुके हैं। लेकिन, अब तक शहरवासियों को पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध कराने में प्राधिकरण नाकाम रहा है। गंगा वाटर की सप्लाई भी स्थानीय भूमिगत जल में मिलाकर की जाती है। फिर भी उसकी गुणवत्ता ऐसी नहीं कि लोग उसे पी सकें। ऐसे में स्वच्छता अभियान को तभी सफल माना जा सकता है, जब लोगो को पीने के किए स्वच्छ जल उपलब्ध हो सके।

यह भी पढ़ें : पत्रिका अभियान- खतरे में नौनिहालों की जान ! सुरक्षा से हो रहा खिलवाड़, अभिभावकों और स्कूल प्रशासन कब लेंगे सुध

Show More
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned