होली पर शराब के लिए नहीं मिले पैसे, तो दरोगा की पत्नी व बेटे के खून से खेली होली

होली पर शराब के लिए नहीं मिले पैसे, तो दरोगा की पत्नी व बेटे के खून से खेली होली

Iftekhar Ahmed | Updated: 02 Mar 2018, 07:58:11 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

दनादन गोलियां बरसाकर खेली खून की होली

मेरठ. पुलिस का खौफ बदमाशों के सिर से खत्म हो चुका है। एक तरफ बदमाशों का एनकाउंटर कर पुलिस अपनी पीठ थपथपा रही है तो दूसरी ओर कुख्यात आम जनता से जबरन वसूली कर रहे हैं। रूपये न देने पर वे गोलियां सीधे सीने में उतार रहे हैं। ऐसा ही मामला गुरुवार की रात मेरठ के शास्त्रीनगर इलाके में हुआ। जब कुख्यात ने दरोगा के बेटे से शराब की बोतल के लिए रूपये मांगे। दरोगा के बेटे ने रूपये देने से मना किया तो कुख्यात शराब के नशे में घर में घुसा और उसने पहले दरोगा की पत्नी को ताबडतोड गोली मारी इसके बाद उसके लडके के सीने में गोली मारकर फरार हो गया। दरोगा की पत्नी की मौके पर मौत हो गई जबकि उसका बेटा गंभीर हालत में जिंदगी और मोत के बीच जूझ रहा है। सीओ सिविल लाइन चक्रपाणि त्रिपाठी का कहना है कि आरोपी की तलाश की जा रही है। उसके साथ रहने वाले कई लोगों को पुलिस ने उठाया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। हत्याकांड मामले को लेकर एसएसपी मंजिल सैनी ने चौकी इंचार्ज दिनेश मलिका को सस्पेंड कर दिया और एसओ नौचंदी संजय तोमर के खिलाफ जांच बैठा दी है।

यह भी पढ़ेंः गर्ल फ्रेंड से युवक पहले बोला हैप्पी होली... फिर किया ऐसा वादा कि युवती के उड़ गए होश

दंगा प्रभावित मुजफ्फरनगर में हिन्दू-मुस्लिम ने मिलकर खेली होली, खबर देखने के लिए इस लिंक को क्लिक करें

ये है घटना
बुलंदशहर के गांव धर्मपुर निवासी ब्रजपाल उप्र पुलिस में दरोगा के पद हैं। वे मेरठ हापुड रोड स्थित 44 वाहिनी पीएसी में तैनात हैं। उनका परिवार मेरठ शास्त्री नगर के ब्लाक में ही रहता है। होली पर उनकी डयूटी आगरा लगाई गई थी और वे आगरा डयूटी पर गए हुए थे। घर पर उनकी पत्नी और दो बेटे थे। रात करीब 8 बजे उनका बडा बेटा कवीन्द्र घर से बाहर सामान लेने के लिए गया था। घर से बाहर निकलते ही उसे अर्जुन नामक एक युवक ने रोक लिया। आरोप है कि अर्जुन उस समय नशे की हालत में था। उसके साथ एक अन्य युवक शिवा भी था। दोनों ने दरोगा पुत्र कविंद्र से शराब की बोतल के लिए पांच सौ रूपये मांगे। जिस पर कविंद्र ने रूपये देने से मना कर दिया। इस पर अर्जुन ने पिस्टल निकाल ली और कविंद्र को जान से मारन की धमकी देने लगा। इसी दौरान आवाज सुनकर कविंद्र की मां सुमन बाहर आई और उसने दोनों को समझाने की कोशिश की। लेकिन अर्जुन नशे में था और उसने पिस्टल से गोली चला दी। जिस पर गोली कविंद्र की गर्दन पर लगी। बेटे के ऊपर फायर होता देख मां बीच में आ गई। नशे में धुत्त अर्जुन ने फायर करने शुरू कर दिए तो कई गोलियां सुमन को भी लग गई। सुमन नीचे गिर गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ेंः भीम आर्मी ने RSS के छुड़ाए पसीने, होली से भी किया किनारा

यह भी पढ़ेंः आजम की भैंस के बाद अब कुत्ते के कातिल की तलाश में जुटी योगी की पुलिस

मां-बेटे को गोली मारने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। मौके पर मौजूद लोग दोनों को अस्पताल लेकर पहुंचे जहां पर चिकित्सकों ने सुमन को मृत घोषित कर दिया। कविंद्र जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है। छोटे बेटे निशांत ने दोनों हत्यारोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

 

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned