scriptnoida authority suspended watchman nitin rathi | करोड़पति चौकीदार: प्‍लॉट आवंटन में फर्जीवाड़ा कर बन गया करोड़ों की संपत्ति का मालिक, ऐसे खुली पोल | Patrika News

करोड़पति चौकीदार: प्‍लॉट आवंटन में फर्जीवाड़ा कर बन गया करोड़ों की संपत्ति का मालिक, ऐसे खुली पोल

फर्जीवाड़ा मामले का खुलासा होने के बाद प्रकरण की जांच की गई जिसमें जनवरी, 2015 में प्राधिकरण ने नितिन राठी को निलंबित कर कोतवाली सेक्टर-20 में मुकदमा दर्ज कराया गया। एक शिकायतकार्त ने अपने बयान में लिखा कि आरोपी नितिन ने कंसलटेंट कंपनी की आड़ में 47 लोगों से ठगी की है।

नोएडा

Published: April 26, 2022 11:48:47 am

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में ठगी का अनोखा मामला सामने आया है। यहां नोएडा प्राधिकरण में तैनात एक चौकीदार नितिन राठी पर आरोप है कि उसने प्लाट और आवंटन संबंधित दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा कर करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर ली। मामले का खुलासा होते ही आरोपी नितिन राठी को नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने सोमवार को बर्खास्त कर दिया। बताया जाता है कि नितिन कई सालों से नोएडा प्राधिकरण में चौकीदार के पद पर तैनात था।
ghotala.jpg
जानिए पूरा मामला

खबरों के मुताबिक, नितिन राठी को अपने पिता उदयवीर सिंह राठी की मौत के बाद नोएडा प्राधिकरण में चौकीदार के पद पर नौकरी मिली थी। लेकिन इसके बाद से नितिन जमकर फर्जीवाड़ा करने लगा और करोड़ों की संपत्ति का मालिक बन गया। एक मामले में आरोपित नितिन ने फर्जी लेटर पैड पर अलाटमेंट कर 47 लोगों को अपना शिकार बनाया और लाखों रुपये ठग लिए। फर्जीवाड़े के जरिये नितिन ने इन 47 पीड़ितों को प्लाट और फ्लैट का आवंटन किया। इसके बदले में इन पीड़ित लोगों से अवैध तरीके से भारी भरकम राशि वसूली थी।
आरोपी नितिन निलंबित

उधर, फर्जीवाड़ा मामले का खुलासा होने के बाद प्रकरण की जांच की गई जिसमें जनवरी, 2015 में प्राधिकरण ने नितिन राठी को निलंबित कर कोतवाली सेक्टर-20 में मुकदमा दर्ज कराया गया। विवेचना अधिकारी ने एक रिपोर्ट न्यायालय में दायर की। इसमें छह नवंबर, 2017 को नितिन राठी पर चार्ज फ्रेम किया गया। इसके बाद आरोप पत्र जारी कर नितिन राठी से जवाब मांगा गया। शिकायतकार्ताओं के प्रकरण को भी सुना गया। एक शिकायतकार्त ने अपने बयान में लिखा कि आरोपी नितिन ने खोड़ा के ग्रीन इंडिया प्लेस माल में जिविका कंसलटेंट नाम से कार्यालय बना रखा है जिसमें उसने कंसलटेंट कंपनी की आड़ में 47 लोगों से ठगी की है।
ऐसे लोगों को जाल में फंसाता था नितिन

दरअसल, नितिन राठी ने 2015 में रद प्लाट और लेफ्ट आउट फ्लैट की प्राधिकरण ने आवासीय स्कीम निकाली। वह तमाम आवेदन पत्र भरने के दौरान चौकीदार लोगों से संपर्क कर रहा था। उनसे कहता था कि रुपये खर्च करो तो वह आवंटन करा सकता है। वहीं ड्रा होने पर चौकीदार कहता था कुछ प्लाट और फ्लैट बचाकर रख लिए गए हैं। साथ ही कुछ ऐसे भी प्लाट या फ्लैट होते है, जिनका किसी न किसी कारण से आवंटन निरस्त हो जाता है। चौकीदार उन्हीं के फर्जी कागजात थमाकर लोगों से रुपये ले लेता था और प्राधिकरण में भी किस्त के रूप में कुछ रकम जमा करा देता था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरूUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.