यादव सिंह के बाद नोएडा अथॉरिटी के एक और अधिकारी पर कसा शिकंजा

सहायक परियोजना अभियंता ब्रिजपाल चौधरी के घर पर छापा

 

By: Ashutosh Pathak

Updated: 07 Jun 2018, 02:29 PM IST

नोएडा। सत्ता में आने के बाद सरकार ने भ्रष्टार पर लगाम लागने का दावा किया था और किसी भी अधिकारी के भ्रष्टार में लिप्त पाए जाने पर सख्ती से निपटने की चेतावनी दी। लेकिन शायद पीएम मोदी और सीएम योगी की चेतावनी उनके अधिकारियों पर कोई असर नहीं हो रहा है। क्योंकि नोएडा चीफ इंजीनियर यादव सिंह के 954 करोड़ के घोटाले के बाद प्राधिकरण के और अधिकारी आयकर विभाग की जांच की तलवार लटक गई है। जिसने नोएडा अथॉरिटी में हड़कंप मच गया है।

ये भी पढ़ें : पहले पी खूब शराब लेकिन जब पैसे देने हुए तो ठेके संचालक के साथ किया कुछ ऐसा की मच गई अफरा-तफरी

दरअसल घोटालों का गढ़ रहे नोएडा अब सरकारी जांच एजेंसियों के निशाने पर है। नोएडा प्राधिकरण के चीफ इंजीनियर यादव सिंह पहले से ही सीबीआई जांच की मार झेल रहे हैं, कि अब एक और सहायक परियोजना अभियंता ब्रिजपाल चौधरी आय से अधिक संपत्ति के मामले मे इन्कम टैक्स के रेडार मे आ गया है। आज सुबह 8 बजे से इन्कम टैक्स के 10 सदस्यीय टीम नोएडा के सेक्टर 27 स्थित एपीई ब्रिजपाल चौधरी के आवास पर पहुंची और छापेमारी शुरू कर दी। इसके साथ ही चौधरी के सेक्टर 63 स्थित एक होटल पर भी छापेमारी की कार्रवाई चल रही है।

ये भी पढ़ें : भूलकर भी यह वीडियो whatsapp पर न करें शेयर, नहीं तो जाना पड़ेगा जेल

नोएडा के एच-37 सेक्टर-27 में सहायक परियोजना अभियंता ब्रिजपाल चौधरी की कोठी है, जो वर्ग सर्कल एक मे APE की पोस्ट पर तैनात हैं। आज सुबह ही आयकर विभाग की टीम कोठी पर पहुंच गई, और छापेमारी की कार्रवाई शुरू कर दी। छापेमारी की कार्रवाई में इन्कम टैक्स अधिकारियों ने पूरे घर के साथ ही ब्रिजपाल चौधरी की महंगी कारों की भी अच्छे से तलाशी ली ।

ये भी पढ़ें : खून का बदला खून...तीन साल पुराने हत्या मामले इस तरह लिया बदला! सहमे इलाके के लोग

जानकारी के मुताबिक अधिकारियों की इस बात का अंदेशा था कि कहीं यादव सिंह के तरह ही इन गाड़ियों मे कोई गुप्त तिजोरी तो नहीं बनी है। हालाकि गाड़ियों की तलाशी से क्या कुछ मिला, इस बात कोई भी अधिकारियों ने कुछ भी जानकारी नहीं दी है। लेकिन सूत्रों के मुताबिक काफी दस्तावेज़ और कागजात इन्कम टैक्स अधिकारियों ने जब्त किए हैं, जिसकी विस्तार से जांच करने के बाद ही मीडिया को जानकारी दी जाएगी। फिलहाल कार्रवाई अभी जारी है और घर के सदस्यों को न तो बाहर जाने दिया जा रहा है और न ही बाहर से किसी को अंदर आने दिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें : ब्लैकमेल कर नाबालिग से करता रहा गंदा काम इनकार करने पर किया...

income tax
Show More
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned