विंटर ओलपिंक: जब डोनाल्ड ट्रंप और तानाशाह किम जोंग ने मिलाया हाथ!

विंटर ओलपिंक: जब डोनाल्ड ट्रंप और तानाशाह किम जोंग ने मिलाया हाथ!

| Updated: 11 Feb 2018, 01:15:07 PM (IST) अन्य खेल

विंटर ओलपिंक 2018 का शनिवार को रंगारंग उद्घाटन किया गया। दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग शहर में खेलों का महाकुंभ जारी है।

 

नई दिल्ली। इन दिनों दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग शहर में शीतकालीन ओलपिंक खेल खेला जा रहा है। खेलों के इस महाकुंभ का शुक्रवार को रंगारग उद्घाटन किया गया। इस दौरान खिलाड़ियों के साथ-साथ कई देशों के राजनेता भी मौजूद रहे। लेकिन सबसे ज्यादा आकर्षण अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उतर कोरिया के तानाशाह किम जोंग का मिलन पर रहा। जब इन दोनों ने आपस में हाथ मिलाया तो वहां मौजूद मीडिया के कैमरे की फ्लैश एकाएक चमक उठीं। दोनों ने न सिर्फ हाथ मिलाया बलिक हाई-फाई भी करते दिखाई दिए। हालांकि यह सब वास्तविक नहीं था। दरअसल में डोनाल्ड ट्रंप और किंम जोंग के हमशक्ल बनाए गए थें। हमशक्ल बना कर यह संदेश देने की कोशिश की गई थी कि अवाम शांति चाहती है। गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच का रिश्ता लंबे समय से तनाव में है।

korea

कोरियाई प्रतिनिधियों का मिलना एतिहासिक -
उद्घाटन के दौरान दक्षिण कोरिया और उतर कोरिया के प्रतिनिधियों ने एक साथ मंच साझा किया। दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जाए-इन और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग की बहन किम यो- जोंग ने आपस में हाथ में भी मिलाए। इस घटना को अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) ने ऐतिहासिक क्षण बताया। 23वें शीतकालीन खेलों के उद्धाटन समारोह के दौरान शुक्रवार को प्योंगचांग में स्थित ओलम्पिक स्टेडियम में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जाए-इन को उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की बहन किम यो-जोंग और देश के वदिेश मंत्री किम योंग-नाम से हाथ मिलाते देखा गया।

क्या कहा आईओसी के प्रवक्ता ने -
आईओसी के प्रवक्ता मार्क एडम्स ने प्योंगचांग में संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा, "यह एक ऐतिहासिक क्षण था। ओलम्पिक खेलों के बारे में हैं लेकिन कल इसका संकेत बिना की चीजें कैसी हो सकती हैं। हालांकि, मार्क एडम्स ने इस बात पर जोर दिया कि ओलम्पिक खेल राजनीति के लिए नहीं है। एडम्स ने आगे कहा कि मैं नहीं समझता की ओलम्पिक खेल, आईओसी या ओलम्पिक अभियान यह सोच सकते है कि वह विश्व की समस्याओं को उद्धाटन समारोह में हल कर सकते हैं। एडम्स ने आगे कहा कि लेकिन ओलम्पिक खेल इस बात का संकेत है कि अगर प्रतिस्पर्धा करने वाले लोग एकसाथ आ जाए और अपनी दूरियों का कम करे तो विश्व में चीजें कैसी हो सकती हैं। इसलिए यह एक बड़ा क्षण था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned