भारतीय कारोबारी ने पाकिस्तान में लगवाए 62 हैंडपंप, भूखे लोगों के लिए भिजवाया अनाज

भारतीय कारोबारी ने पाकिस्तान में लगवाए 62 हैंडपंप, भूखे लोगों के लिए भिजवाया अनाज

Shweta Singh | Updated: 07 Jun 2019, 02:27:52 PM (IST) पाकिस्तान

  • दुबई में रहनेवाले भारतीय कारोबारी जोगिंदर सिंह सलारिया ने गरीब पाकिस्तानियों की मदद की
  • अत्यधिक पिछड़े जिले में लगवाएं हैंडपंप, भेजा खाने-पीने का सामान
  • पुलवामा हमले के बाद से दोनों देशों के बीच जारी है तनाव

नई दिल्ली। पुलवामा हमले और बालाकोट ( Balakot ) में एयरस्ट्राइक के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच पनपे तनाव से बेफ्रिक दुबई के एक भारतीय कारोबारी ने पाक के पिछड़े इलाके में रहनेवाले लोगों की मदद की है। कारोबारी ने पाक के दक्षिण-पूर्व सिंध प्रांत के गरीब इलाके में करीब 62 हैंडपंप लगवाए हैं। जोगिंदर सिंह सलारिया नाम के इस करोबारी ने मानवीय आधार पर यह पहल की है।

सामाजिक कार्यकर्ताओं की ली मदद

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सलारिया को यहां के लोगों के स्थिति के बारे में सोशल मीडिया से जानकारी मिली थी। प्रांत के थारपरकर जिले की दुर्दशा जानकर उन्होंने स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ताओं से मदद मांगी और इलाके में करीब 62 हैंडपंप लगवाए। इतना ही नहीं, इलाके में भूखमरी से पीड़ित लोगों की मदद के लिए लोगों को अनाज भी मुहैया कराया।

Pump in pak

दुबई में परिवहन कारोबारी हैं सलारिया

बता दें कि सलारिया साल 1993 से संयुक्त अरब अमीरात में रह रहे हैं, जहां उनका परिवहन का कारोबार है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक और यूट्यूब की मदद से उन्होंने समाजिक कार्यकर्ताओं से संपर्क साधा। वहीं से आर्थिक मदद भी मुहैया कराई। दुबई के स्थानीय अखबार ने अपने रिपोर्ट में सलारिया के हवाले से लिखा, 'पुलवामा घटना के बाद जिस वक्त भारत-पाक के बीच चरम पर तनाव था, उस वक्त इन गरीब गांवों में हैंडपंप लगाने का काम जारी था।' रिपोर्ट में बताया गया कि कारोबारी से जिले के लोगों की दुर्दशा और लोगों की दयनीय हालता देखा नहीं गया।

यह भी पढ़ें-

Protest after Pulwama

फरवरी में हुए पुलवामा हमले के बाद से भारत-पाक रिश्तों में बढ़ी दरार

गौरतलब है कि बीते 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने CRPF के काफिले पर आत्मघाती हमला कर दिया था, जिसमें भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले को अंजाम देनेवाले आंतकी पाकिस्तान ? के संगठन जैश-ए-मोहम्मद से संबंधित थे। ऐसे में आतंकियों की पनाहगाही और आर्थिक मदद करनेवाले पाकिस्तानी के रवैए को लेकर दोनों देशों के बीच भारी तनाव जारी रहा।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned