Pakistan: इमरान सरकार के लिए बढ़ी मुसीबत! रोक के बावजूद 22 नवंबर को पेशावर में विपक्षी दलों की विशाल रैली

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान ( Pakistan ) में 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट ( PDM ) की ओर से पेशावर में एक विशाल रैली किया जाने वाला है।
  • इमरान सरकार ( Imran Khan Government ) ने कोरोना का हवाला देते हुए सार्वजनिक रैली आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है।

By: Anil Kumar

Updated: 22 Nov 2020, 07:08 PM IST

पेशावर। पाकिस्तान ( Pakistan ) में सियासी घमासान अब चरम पर पहुंच गया है। विपक्षी दलों ने इमरान सरकार ( Imran Khan Government ) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और अब सरकार की पाबंदी के बावजूद भी 22 नवंबर को पेशावर में विशाल रैली करने वाली है।

पाकिस्तान में 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट ( PDM ) की ओर से पेशावर में एक विशाल रैली किया जाने वाला है, जिसपर इमरान सरकार ने रोक लगा दी है। PDM ने कहा है कि वो रविवार को पेशावर में चौथे शक्ति प्रदर्शन का मंचन करेगा।

पाकिस्तानियों को देश से भगाने की तैयारी में UAE, लोगों को नहीं दे रहा Visa

इमरान सरकार ने कोरोना का हवाला देते हुए सार्वजनिक रैली आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। हालांकि इसके बावजूद PDM ने कहा है कि वो सरकार के खिलाफ रैली करेंगे।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, इस रैली को जमीयत उलेमा इस्लाम-फजल (JUI-F) और पीडीएम प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के उपाध्यक्ष मरियम नवाज, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो के अलावा अन्य विपक्षी नेता संबोधित करेंगे।

मरियम नवाज ने पुष्टि करते हुए कहा है कि उनके पिता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पेशावर की रैली को संबोधित नहीं करेंगे।

इमरान सरकार ने रैली पर लगाया बैन

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान खान की सरकार ने PDM की रैली को इजाजत देने से मना कर दिया। शुक्रवार को पेशावर के डिप्टी कमिश्नर ने रैली की इजाजत देने से इनकार करते हुए कहा कि प्रांतीय राजधानी में कोरोना पॉजिटिव के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में किसी भी बड़ी जनसभा से ये मामले और भी तेजी से बढ़ सकता है।

इमरान खान की कुर्सी पर घिरे संकट के बादल, विपक्षी पार्टियां सरकार गिराने के लिए हुईं एकजुट

इससे पहले सोमवार को पीएम इमरान खान ने राष्ट्र के नाम संबोधन में सार्वजनिक समारोहों जिसमें राजनीतिक रैलियां भी शामिल है, पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी।

इधर सरकार की ओर से रैली पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर खैबर पख्तूनख्वा में पीएमएल-एन के प्रवक्ता इख्तियार वली ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार PDM की रैलियों से डर गई है। उन्होंने कहा कि रविवार की रैली जरूर होगी। यह सरकार के खिलाफ एक जनमत संग्रह है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned