पन्द्रह दिन पहले मां, पुत्र व पुत्री पकड़े गए, अब छोटे पुत्र से मिले डेढ़ लाख रुपए के नकली नोट

- मामले में अब तक एक ही परिवार का चौथा सदस्य गिरफ्तार, पिता की तलाश जारी
- पाली जिले में लगातार मिलते जा रहे हैं नकली नोट, दो सप्ताह में तीसरी कार्रवाई

By: Suresh Hemnani

Published: 19 Jan 2021, 09:46 AM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। पाली जिले में लगातार नकली नोट पकड़े जा रहे हैं। पन्द्रह दिन पूर्व रायपुर मारवाड़ थाना पुलिस ने 4800 रुपए के नकली नोट के साथ मां, पुत्र व पुत्री को गिरफ्तार किया था। अब उसी परिवार के छोटे पुत्र से रायपुर मारवाड़ थाना पुलिस ने सोमवार को डेढ़ लाख रुपए के नकली नोट पकड़े हैं। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है। उसने यह नोट अपने पिता से लाना कबूला है। पुलिस उसके पिता की तलाश कर रही है। जांच में सामने आया है कि पूरा परिवार ही नकली नोट का गिरोह चलाता था। पिछले पन्द्रह दिन में नकली नोट पकडऩे की पाली में यह तीसरी कार्रवाई है।

परिवार था निशाने पर, आखिर पकड़े गए
पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत के अनुसार जिले में नकली नोट गिरोह के सक्रिय होने की सूचना के बाद जिले के सभी एसएचओ को अलर्ट किया था। रायपुर थानाधिकारी मनोज राणा ने दोपहर को जोधपुर हाइवे पर स्थित बिराटिया कलां गांव के बस स्टैण्ड पर दबिश दी। वहां बिराटिया खुर्द निवासी भीमसिंह नायक पुत्र लाखनसिंह नायक हाथ में काले रंग का बैग लिए पुलिस टीम को देख भागने लगा। पुलिस ने उसका पीछा कर दबोच लिया। बैग की तलाश लेने पर उसमें 2 हजार, पांच सौ व सौ रुपए के नोट के डेढ़ लाख 100 रुपए के नकली नोट मिले।

पुलिस ने आरोपी भीमसिंह नायक को गिरफ्तार कर लिया। पिता है शातिर जेब कतराभीमसिंह का पिता लाखनसिंह जिले का नामचीन जेबकतरा है। इसके खिलाफ जिले के विविध थानो में कई प्रकरण दर्ज है। लाखन ने अपनी पत्नी बच्चों को भी अपराध की दुनिया में उतार रखा है। अब तक चोरी कर शौक मौज करने वाले लाखन ने अब नकली नोट का कारोबार शुरू कर दिया है।

मां बहन भाई पहले पकड़े गए
रायपुर थाना पुलिस ने पिपलिया कलां मेें पन्द्रह दिन पहले लाखनसिंह की पत्नी रेखा, बेटी लक्ष्मी, बड़ा बेटा गणपत नकली नोट को 4800 रुपए के नकली नोट के साथ गिरफ्तार किया था।

रंगीन फोटो कॉपी कराने की आंशका
ये नकली नोट एक ही सीरीज के है। पुलिस को संदेह है कि इनकी रंगीन फोटो कॉपी या प्रिंटिंग की गई है। पुलिस ने आमजन से सतर्क रहने की अपील की है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned