यहां द्रोपदी का चीर बनी मुख्यमंत्री जन आवास योजना

-मूलभूत सुविधाएं (सीवर, लाइट-पानी कनेक्शन) भी नहीं की विकसित, कैसे रहेंगे लोग
-056 फ्लेट में से बने महज 304, शेष का निर्माण जारी

By: Suresh Hemnani

Published: 06 Mar 2021, 04:54 PM IST

-ओम टेलर
पाली। आर्थिक रूप से कमजोर व अल्प आय वर्ग के लोगों को किफायती दर पर खुद का घर मिल सके। इस उद्देश्य से शुरू की गई मुख्यमंत्री जन आवास योजना पाली शहर में द्रोपदी का चीर बनी हुई हैं। करीब चार वर्ष से अधिक समय हो गया फ्लेट निर्माण कार्य चलते हुए, लेकिन अभी तक कार्य पूरा नहीं हुआ। आलम यह हैं कि यहां लाइट-पानी के कनेक्शन तक नहीं हो सके। वाणिज्य कार्यों के लिए दुकानों का निर्माण भी नहीं करवाया गया।

शहर के जोधपुर रोड घुमटी के लिए निकट वर्ष 2017-18 में मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत फ्लेट्स का निर्माण शुरू किया गया। योजना के तहत एलआइजी वर्ग के 368 फ्लेट बनने प्रस्तावित हैं। अभी तक 192 फ्लेट ही बने है तथा 58 का निर्माण चल रहा हैं। इसी तरह ईडब्ल्यूएस वर्ग के 688 फ्लेट बनने हैं और वर्तमान में 192 फ्लेट बन चुके हैं तथा 64 फ्लेट का निर्माण कार्य चल रहा हैं।

109 ने ही करवाया बैंक से लोन
योजना के तहत 1-बीएचके (ईडब्ल्यूएस वर्ग) का फ्लेट बुक करवाने के लिए 44 हजार 376 रुपए डाउन पेमेंट सात किस्तों में व 2-बीएचके (एलआईजी) फ्लेट बुक करवाने के लिए एक लाख तीन हजार 840 रुपए डाउन पेमेंट किस्तों में नगर परिषद को जमा करवाना होता है। उसके बाद शेष राशि का बैंकों से ऋण करवाया जाता हैं। एलआइजी वर्ग के फ्लेट के लिए महज 29 व इडब्ल्यूएस वर्ग के फ्लेट के लिए 80 जनों ने डाउन पेमेंट जमा करवाया है।

199 ने फ्लेट बुक कराया, लेकिन ऋण नहीं लिया
योजना के तहत 142 शहरवासियों ने इडब्ल्यूएस व 157 ने एलआइजी वर्ग में फ्लेट बुक करवाया, लेकिन कई लोगों ने डाउन पेमेंट राशि ही भरी। शेष राशि के लिए बैंकों से ऋण नहीं लिया। इसके चलते फ्लेट्स निर्माण गति नहीं पकड़ पा रहा। कोरोना के कारण कइयों ने डाउन पेमेंट की राशि भरना बंद कर दिया। लाइट पानी की नहीं व्यवस्था योजना के तहत 304 फ्लेट बनाए गए है। वहां अभी तक पानी, बिजली व सीवर की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में सवाल खड़ा होता हैं कि यहां लोग चाहे भी तो कैसे रहे।

करनी पड़ी तीन बार लॉटरी
योजना के तहत शहरवासियों से अभी तक तीन बार आवेदन मांगें गए है। चौथी बार आवेदन मांगने की तैयारी है। इससे पहले 12 जनवरी 2018, 30 जून 2019 व 3 सितम्बर 2019 को फ्लेट्स के लिए लॉटरी आयोजित की गई, लेकिन उसके बाद भी आधे फ्लेट्स भी नहीं बिक सके।

फ्लेट्स एक नजर
इडब्ल्यूएस वर्ग (1-बीएचके) - 349.48 वर्ग फीट में फ्लेट बनेगा। जिसमें एक बेडरूम, एक किचन, एक हॉल, एक बाथरूम, एक बालकानी होगी। जिसकी कीमत 4 लाख 19 हजार 376 रुपए होगी। जिसमें डेढ़ लाख रुपए सरकारी अनुदान मिलेगा। शेष दो लाख 69 हजार 376 फ्लेट मालिक को बैंक से ऋण लेकर किस्त चुकानी होगी। एलआइजी वर्ग (2-बीएचके) - 528.20 वर्ग फीट में फ्लेट बनेगा। जिसमें दो बेडरूम, एक किचन, एक हॉल, एक बाथरूम, एक बालकानी होगी। जिसकी कीमत 6 लाख 33 हजार 840 रुपए होगी। इसमें दो लाख 67 हजार रुपए ब्याज का सरकारी अनुदान होगा।

जल्द करवाएंगे कार्य शुरू
फ्लेट्स में लाइट-पानी के कनेक्शन करवाने के लिए जल्द ही कार्य शुरू करवाएंगे। इसके साथ ही वाणिज्य कार्य के लिए आवंटित होने वाले भूखण्डों की जानकारी लेकर वह कार्य भी आगे बढ़ाएंगे। -ब्रिजेश रॉय, आयुक्त, नगर परिषद, पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned