दुर्गाष्टमी पर देवी मंदिरों में मंत्रोच्चार संग गूंजे जयकारे

-दुर्गाष्टमी पर मंदिरों व घरों में किए गए हवन
-माता के दरबार में इस बार नहीं पहुंचे श्रद्धालु

By: Suresh Hemnani

Updated: 20 Apr 2021, 07:26 PM IST

पाली। चैत्र नवरात्र की दुर्गाष्टमी पर मंगलवार को जिले में स्थित माता अम्बे के मंदिरों में कोरोना के कारण श्रद्धालुओं का हुजूम नहीं उमड़ा। मंदिरों में पुजारी व पंडित ने मिलकर ही दुर्गासप्तशती के मंत्रों का उच्चारण करते हुए स्वाहाकार बोल हवन वेदी में आहुतियां दी।

माता का विधि-विधान से पूजन किया और कोरोना महामारी को खत्म करने की प्रार्थना की। शहर के निकट स्थित पुनागर माता भाखरी पर भी महंत अभयपुरी के सान्निध्य में हवन व पूजन किया गया। माता के दरबार में मेला नहीं भरा।

दुगाष्टमी को लेकर सुबह से ही माता के आराधकों में उत्साह रहा। आराधकों ने सुबह घरों में माता के आठवें रूप महागौरी का पूजन किया। माता का आभूषणों से शृंगार किया। इसके बाद परिजनों के साथ बैठकर हवन वेदी में आहुतियां दी।

हवन पूर्ण होने के बाद माता का स्परूप मानकर नौ कन्याओं व दो बटुकों को भैरव रूप मानकर पूजन किया। उनको भोजन करवाकर वस्त्र आदि भेंट किए। कोरोना के कारण कई लोगों ने कन्याओं व बटुकों को भोजन कराने के स्थान पर उनको भोजन प्रसाद या फल आदि उनके घर जाकर ही भेंट किए।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned