सचिव वित्त (राजस्व) ने कलक्टर, एसपी व आबकारी डीइओ को अवैध शराब रोकने के दिए आदेश

सचिव वित्त (राजस्व) ने कलक्टर, एसपी व आबकारी डीइओ को अवैध शराब रोकने के दिए आदेश

Suresh Hemnani | Publish: Sep, 16 2018 10:42:51 AM (IST) Pali, Rajasthan, India

-पत्रिका की खबर प्रकाशित होने के बाद अधिकारियों को दिए निर्देश
-एसपी ने की क्राइम मिटिंग, धरपकड़ शुरू
-सचिव वित्त (राजस्व) गुप्ता ने आबकारी अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए की बात

पाली। अवैध शराब व जहरीली शराब बिक्री के मामले में संवेदनशील पाली जिले में अवैध शराब की फैक्ट्री खुलने की खबर राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित होने के बाद पुलिस, प्रशासन व आबकारी विभाग में हडक़ंप मच गया। सचिव वित्त (राजस्व) प्रवीण गुप्ता ने प्रदेश के सभी आबकारी अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग ली और सख्ती से अवैध शराब रोकने की बात कही।

पाली के जिला आबकारी अधिकारी जीआर सुथार को अवैध शराब की फैक्ट्री की सूचना मिलने के बाद धरपकड़ करने, तस्करों को पकडऩे के निर्देश दिए। जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा व पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश से बात कर इस बारे में अलर्ट रहने को कहा।

हर हाल में रुके अवैध शराब
गुप्ता ने दोपहर में चार घंटे तक प्रदेश के आबकारी अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से बात की। इसमें पाली सहित सभी जिला आबकारी अधिकारियों को चुनावी सीजन में हर हाल में अवैध शराब की बिक्री रोकने, ठेकों पर चेकिंग करने, ढाबों व होटलों की तलाशी, तस्करों पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए। मुखबिर तंत्र को मजबूत कर कार्रवाई करने की बात कही। इसके बाद पाली में आबकारी विभाग ने कार्रवाई शुरू कर दी। संदिग्ध इलाकों में लगातार दबिश दी जा रही है। सभी अधिकारियों को छुट्टी के दिन भी बुला लिया गया है।

बजरी, अवैध शराब, तस्करी रोके-एसपी
इधर, पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश ने अपने कार्यालय में जिले के थानाधिकारियों क्राइम मिटिंग ली। इसमें विशेष रूप से अवैध बजरी खनन व परिवहन रोकने, हाइवे पर ढाबों पर अवैध काम रोकने, तस्करी रोकने, पेंडेंसी निपटाने, चुनावी सीजन में अलर्ट रहने, चोरियां रोकने, लूट की वारदातों पर अंकुश लगाने, ग्रामीण इलाकों में गश्त बढ़ाने, अवैध शराब की तस्करी रोकने, स्प्रिट निर्मित शराब पर नजर रखने के निर्देश दिए। एसपी ने कहा कि किसी भी शिकायत पर गंभीरता से कार्रवाई की जाए। अब देखना यह है कि पुलिस इस पर कितनी कार्रवाही करती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned