जिस उद्यान को नाडी बनाना था वह अतिक्रमण व गंदगी से अटी

शहर के खोडिया बालाजी नाडी का मामला

By: Om Prakash Tailor

Updated: 08 Dec 2019, 09:41 PM IST

पाली। जिस नाडी को उद्यान बनाकर विकसित करने की योजना थी। वह आज जिम्मेदारों की अनदेखी से गंदे पानी से अटी पड़ी है। आलम यह है कि इस गंदे पानी में
मच्छरों की भरमार हो रही है तथा हादसा होने का भी डर रहता है लेकिन
जिम्मेदार इसकी दशा सुधारने को लेकर कोई पुख्ता कदम नहीं उठा रहे।

हम बात कर रहे है शहर के खोडिया बालाजी नाडी की। जहां कभी पूर्व
प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी के नाम से उद्यान विकसित करने की नगर परिषद
के पूर्व सभापति प्रदीप हिंगड़ के कार्यकाल में योजना बनी थी लेकिन वह आज
तक धरातल पर नहीं आ सकी। नगर परिषद ने भी इसे कचरा घर बना दिया। कचरा डाल
कर नाडी का काफी हिस्सा धरातल बना दिया। जिस पर भी अतिक्रमणकारियों की
नजर है।
्र
सफाई कर किया था पौधरोपण
पूर्व जिला कलक्टर नीरज के पवन के कार्यकाल में नाडी की दशा सुधारने के
लिए यहा हो रखे अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी। इसके साथ ही नाडी
की सफाई कर वन विभाग की ओर से यहां पौधेरोपित करने का कार्य भी किया गया
था। इसे उद्यान के रूप में विकसित करने के लिए उन्होंने क्षेत्रवासियों
की कमेटी भी बनाई थी लेकिन उनके जाने के बाद से फिर से इस नाडी की दशा
खराब होनी शुरू हो गई।

बरसाती पानी से भरी नाडी
नाडी में बरसाती पानी भरने से वह गंदा हो रखा है। आस-पास के लोग भी उसमें
गंदगी डालने लग गए। ऐसे में वर्तमान में यह पानी गंदगी से अट गया है।
जिसकी निकासी के लिए स्थानीय नगर परिषद अधिकारी कोई प्रयास नहीं कर रहे।

नाडी का स्वरूप सुधारने के लिए बनाएंगे योजना
खोडिया बालाजी नाडी का स्वरूप सुधारने के लिए योजना बनाई जाएगी। जिसके
तहत उसमें जमा गंदा पानी हटाकर इसे विकसित करने का प्रयास किया जाएगा तथा
अतिक्रमण मुक्त करने कीभी कार्रवाई की जाएगी।
- रेखा भाटी, सभापति नगर परिषद पाली

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned