PIE SUMMER CAMP : पाई समर कैम्प में आकर निखर रहा प्रतिभागियों का हूनर

Rajeev Singh Dave

Publish: May, 18 2018 10:44:13 AM (IST)

Pali, Rajasthan, India
PIE SUMMER CAMP : पाई समर कैम्प में आकर निखर रहा प्रतिभागियों का हूनर

कत्थक तो किसी ने सीखी बास्केटबाल की बारीकियां

पत्रिका पाई समर कैम्प को लेकर उत्साह

 

पाली. राजस्थान पत्रिका की ओर से नया हाउसिंग बोर्ड स्थित सेंन्ट्रल एकेडमी स्कूल में आयोजित पाई समर कैम्प में शहरवासियों का रुझान बढ़ता जा रहा है। यूं तो पाई में पंजीयन होने के बाद प्रशिक्षण शुरू हो गया है। इसके बावजूद अभी तक लोग पंजीयन के लिए आ रहे हैं। शिविर में कोई डांस तो कोई स्पोकन इंग्लिंश की क्लास में आकर अपनी स्किल को डवलप करने में जुटा है। बास्केटबाल को लेकर भी बड़ी संख्या में प्रतिभागियों ने पंजीयन करवाया है। इस शिविर के प्रायोजक सेन्ट्रल एकेडमी स्कूल व सह प्रयोजक नगर परिषद पाली है।

पाई समर कैम्प शुरू हुए महज दो दिन हुए है। इसके बावजूद शुक्रवार को प्रतिभागी यहां सिखाई जाने वाले विधाओं से काफी प्रभावित है। शिविर में दूसरे दिन प्रतिभागियों ने बास्केटबाल खेल की बारीकियां सीखी। इसके साथ ही सेल्फ डिफेंस एवं बॉलीवुड डांस को लेकर भी काफी उत्साहित दिखे।

इन विधाओं का ले रहे प्रशिक्षण

शिविर में पहुंचकर प्रशिक्षणार्थी पर्सनलटी डवलपमेंट, योगा, सोलर एनर्जी सिस्टम, पेन्टिंग, स्केंटिग, केलोग्राफी, आर्ट एण्ड क्राफ्ट हाउस, हीप-हॉप डांस, मेहन्दी, साड़ी डे्रसिंग, जर्नलिज्म, राजस्थान विवाह गीत, एंकरीग, नेल आर्ट, साफ्ट टायज, बालीवुड़ डास, कत्थक, तबला सीखने का प्रशिक्षण ले रहे हैं।

यहां आ रहा मजा

पाई समर कैम्प में इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स सीखने के लिए प्रवेश लिया हैं। कैम्प में नई चीज सीखने को लेकर काफी एक्साइटमेंट है। यहां के प्रशिक्षक बहुत बेहतर तरीके से सिखा रहे हैं।

- निहारिका जोशी, प्रतिभागी।

प्रशिक्षक से बॉस्केटबाल खेल के गुर सीख रहा हूं। उनका तरीका खेल-खेल में सिखाने का है। इससे बहुत मजा आ रहा है। यहां आकर बहुत अच्छा लग रहा है।

निखिल जयपाल, प्रतिभागी।

पाई समर कैम्प के माध्यम से नई प्रतिभाएं निखर कर सामने आएगी। इस बार शिविर में बड़ी संख्या में प्रतिभागी आ रहे है। सभी में सीखने की ललक है।

राजू खान, प्रशिक्षक बास्केटबाल।

परीक्षा समाप्त होने के बाद से ही पाई समर कैम्प शुरू होने का इंतजार कर रही थी। यहां आकर जो अनुभव हुआ है। उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।

कृति वर्मा, प्रतिभागी।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned