मध्यप्रदेश में एक और मजदूर को मिला बेशकीमती हीरा, वजन 3.16 कैरेट, ये खदान उगल रही डायमंड

मध्यप्रदेश में एक और मजदूर को मिला बेशकीमती हीरा, वजन 3.16 कैरेट, ये खदान उगल रही डायमंड

suresh mishra | Publish: Sep, 16 2018 02:01:50 PM (IST) Panna, Madhya Pradesh, India

सरकोहां में ही एक और मजदूर को मिला लाखों का हीरा, हीरा कार्यालय में कराया जमा, हीरे बिकने बाद मिली राशि से चुकाएगा कर्ज, लखनलाल अन्य मजदूरों के साथ मजदूरी भी करता था

पन्ना। मध्यप्रदेश के पन्ना जिला की उथली खदानों ने हीरा उगलना शुरू कर दिया है। लगातार दो दिन से यह खदान बेशकीमती हीरा दे रही है। जिन मजदूरों को ये हीरा मिला है मानों उनकी लाटरी सी लग गई है। बताया गया कि जिला मुख्यालय के समीप ग्राम सरकोहां में एक दिन पूर्व मजदूर को 12.58 कैरेट का नायाब हीरा मिलने के बाद सरकोहां में ही एक और मजदूर को 3.16 कैरेट का हीरा मिला है। मजदूर ने हीरा को कार्यालय में जमा करा दिया है। जानकारी के अनुसार ग्राम जनकपुर निवासी लखनलाल केवट पिता बुलन केवट ने निजी भूमि सरकोहां में हीरा खदान लगाने हीरा कार्यालय में पट्टा के लिए आवेदन किया था।

पत्थर दिखा तो उसकी आखें चमक उठीं
हीरा विभाग की ओर से उसे मार्च में हीरा खदान लगाने पट्टा जारी किया गया था। लखनलाल अन्य मजदूरों के साथ मजदूरी भी करता था। बीते दिनों जिले में हुई तेज बारिश के बाद खदान में चाल की धुलाई के बाद हीरे की बिनाई का काम चल रहा था। शनिवार सुबह हीरे की बिनाई के दौरान लखनलाल को एक चमकदार पत्थर दिखा तो उसकी आखें चमक उठीं। वह चमकदार पत्थर हीरा ही था। जिसकी तौल करने पर वजन 3.16 कैरेट निकला।

बदलेगी परिवार की किस्मत
लखन ने बताया एक दिन पहले ही साढ़े 12 कैरेट का हीरा मिलने से उसे भी उम्मीद थी कि उसे भी बड़ा हीरा मिल सकता है। यह हीरा उतना बड़ा तो नहीं है, लेकिन परिवार की किस्मत बदलने के लिए काफी है। लखन ने बताया कि उसने हीरा खदान के चक्कर में काफी कर्ज ले रखा था। हीरे के बिकने के बाद मिलने वाली राशि से कर्जे चुकाकर कुछ जरूरी सामग्री खरीदेगा। खदान में अभी बहुत काम बाकी है। उसे उम्मीद है कि आगामी दिनों में उसे और भी इसी तरह के बेशकीमती हीरे मिल सकते हैं।

दो दिन पहले एक मजदूर को मिला था 50 लाख का हीरा
बता दें कि, हीरों की नगरी पन्ना की जमीन ने दो दिन पहले 50 लाख रुपए से अधिक कीमत का बेशकीमती हीरा उगला था। साढ़े 12 कैरेट से अधिक वजन का यह जैम क्वालिटी का हीरा जनकपुर निवासी मजदूर को मिला है। दो वक्त की रोटी का इंतजाम करके किसी तरह से परिवार चलाने वाले इस मजदूर की तो मानों लाटरी ही लग गई। 14 सितंबर को सुबह हीरे की बिनाई का काम शुरू करते ही उसे करीब बेर के आकार का जैन क्वालिटी का हीना मिला तो उनका पूरा परिवार खुशी से झूम उठा। मजदूर ने इस बेशकीमती हीरे को कलेक्ट्रेट में संचालित हीरा कार्यालय में जमा करा दिया गया है। आगामी महीने में हीरा कार्यालय द्वारा इस बड़े हीरे को बिक्री के लिए नीलामी में रखा जाएगा।

Ad Block is Banned