पन्ना टाइगर रिजर्व के बफर जोन में भड़की आग, इस तरह धू-धू कर जला जंगल

विश्रामगंज रेंज के पुरुषोत्तमपुर बीट क्षेत्र के रानीपुर जंगल का मामला, महुआ बीनने वाले लोगों के पत्तों की सफाई के लिए आग लगाने आशंका

By: suresh mishra

Published: 17 Mar 2018, 01:17 PM IST

पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व के बफर जोन के जंगल में शुक्रवार दोपहर वनकर्मियों ने वन भ्रमण के दौरान जंगल से धुआं उठता देखा तो घबरा गए। आनन-फानन में रेंजर और एसडीओ सहित वरिष्ठ वन अधिकारियों को सूचना दी। इस दौरान हड़कंप की स्थिति बन गई।

जंगल में पांच हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल में फैली आग बुझाने के लिए दो दर्जन से अधिक वन कर्मियों को पांच टीमों में बांटकर जंगल में उतारा गया। दोपहर करीब एक बजे से शुरू आग बुझाने का सिलसिला शाम पांच बजे के बाद भी चलता रहा।

देखा तो फैल रही थी आग

जानकारी के अनुसार उत्तर वन मंडल के विश्रमागंज रेंज का वन अमला शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे वन भ्रमण पर था। इसी दौरान वन कर्मियों ने देखा कि जंगल से काफी तेजी से धुआं निकल रहा है। जानकारी लगते ही मौके पर देखा तो आग फैल रही थी। इसके बाद रेंजर और एसडीओ विश्रामगंज को मामले की जानकारी दी गई।

टीम में ये रहे शामिल

आग बुझाने वालों की टीम में डिप्टी रेंजर रानीपुर राजकुमार तिवारी, मांगीलाल पटेल, धीरेंद्र शाक्य, प्रिंस सूजकर, काशी प्रसाद अहिरवार, हुकुम सिंह, बृजबिहारी त्रिपाठी, तुलसीदार अहिरवार, नंदकिशोर शर्मा, रामप्रसाद यादव, मनोज अवस्थी, प्रीतम, मनमोहन सिंह यादव आदि शामिल रहे।

हवा के झोके बढ़ा रहे थे परेशानी
आग बुझाने गए वन कर्मियों को हवा के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। लपटों के कारण अचानक आग भड़क उठती थी। आग बुझाने पेड़ों की टहनियां और फायर पीटर आदि का इस्तेमाल किया जा रहा था। वन कर्मी आग बुझाने के काम में देर शाम तक लगे थे। डिप्टी रेंजर तिवारी ने बताया कि हवा के कारण आग बुझाने में काफी परेशानी हो रही थी। दोपहर में आग बुझाने के कारण प्यास भी ज्यादा लग रही थी। मौके पर मौजूद कर्मियों ने बताया कि महुआ बीनने के कारण आसापास के गांव के लोगों ने पत्तों को साफ करने आग लगाई होगी। जिनकी लापरवाही के कारण आग जंगल में फैल गई।

साल की पहली घटना
इस साल अभी गर्मी का सीजन शुरू ही हुआ है और जंगल में आगजनी की घटनाएं शुरू हो गई हैं। विश्रामगंज रेंज के पुरुषोत्तमपुर बीट के जंगल में शुक्रवार को आग भडऩे की घटना इस साल की पहली बड़ी घटना है। गर्मी के दिनों में हर साल इस तरह से जंगल में आग भड़कने की घटनाएं सामने आती रहती हैं। हाल में ही वन विभाग द्वारा अधिकारियों और कर्मचारियों को आगजनी की घटनाओं से जंगलों को बचाने की जानकारी भी दी गई थी।

Show More
suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned