रैपुरा में पड़े ओले, अमानगंज में गिरी आकाशीय बिजली, दो लोग झुलसे, जानिए कैसे कहर ढा रही बारिश

रैपुरा में पड़े ओले, अमानगंज में गिरी आकाशीय बिजली, दो लोग झुलसे, जानिए कैसे कहर ढा रही बारिश
Rain and Lightning in panna district

Balmukund Dwivedi | Publish: Mar, 04 2019 01:58:39 AM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

मौसम में आए बदलाव से फसलों को काफी नुकसान, खलिहान में रखी और पकी हुई फसलें होंगी प्रभावित

पन्ना. जिले में मौसम ने रविवार को एकबार फिर करवट बदली और जिले के कई हिस्सों में बारिश हुई। रैपुरा क्षेत्र में कुछ समय के लिये ओले गिरे तो अमानगंज में झमाझम बारिश के साथ आकाशीय बिजली भी गिरी। इससे दो लोग आकाशीय बिजली की चपेट में आकर घायल हो गए हैं। उन्हें अमानगंज अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। इसके अलावा शाहनगर क्षेत्र में भी बारिश हुई। जबकि पवई क्षेत्र में हल्की बूंदाबांदी होने से सड़कें गीली हो गईं। रविवार को जिले के कई हिस्सों में बारिश होने के कारण खेतों में पकी हुई खड़ी और खलिहानों में रखी हुई फसलें भींग गई। जो फसलें पहले बोई गई थीं उन्हें बारिश के कारण काफी नुकसान की आशंका जताई जा रही है।

दिन में भी ठंड महसूस हो रही
गौतलब है कि बीते कुछ दिनों से जिलेभर में दिन में भी ठंड महसूस की जा रही थी। लोगों को उम्मीद थी कि जल्द ही ठंड खत्म होगी और गर्मी का दौर शुरू होगा। लेनिक लोगों की उम्मीद के विपरीत रविवार की सुबह से ही मौसम खराब हो गया और आसमान में घने बादलों ने डेरा जमा लिया। सुब ११ बजे के बाद जिले के रैपुरा, शाहनगर, अमानगंज सहित कई क्षेत्रों में बारिश हुई, जबकि पवई सहित कुछ क्षेत्रों में बूंदाबांदी मात्र ही हुई। बारिश के कारण एकबार फिर से गलाव और ठंड का दौर शुरू हो गया। इससे अब ठंड आगामी कुछ दिनों तक इसी तरह से रहने की उम्मीद जताई जा रही है।

रैपुरा में गिरे ओले
रैपुरा में तहसील मैं रविवार की सुबह से एक बार फिर से मौसम ने करवट बदली और शाम ५.२० बजे तेज वारिश के साथ साथ ओले भी गिरे। जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ दिखने लगीं। किसानों ने बताया, जो फसल पहले बोई गई थी और पककर तैयार हो चुकी है या खलिहान में रखी हुई है उसके भींगने से फसल दानों की गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है। बाद में बोई गई फसल और गेहूं की फसल के लिये यह पानी फायदे का काम करेगा। हालांकि ओले गिरने से फसल के गिरने की स्थिति में हर फसल को नुकसान होगा।

अमानगंज में बारिश के साथ आकाशीय बिजली
अमानगंज में रविवार को सुबह से ही मौसम में बदलाव देखने को मिला। तेज हवाओं के साथ बादलों ने सूर्य को अपनी आगोश में भर लिया। दोपहर १२ बजे बादलों की तेज गडग़छड़ाहट के साथ बारिश शुरू हो गई। लगभग आधा घंटा तक बारिश होती रही। जिसमें मिढ़ासन नदी के समीप बने एक ढाबा के पास आकाशीय बिजली गिरी। इससे दो लोग इसकी चपेट में आकर घायल हो गए। जिन्हें अमानगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार किया गया। एक की हालत गंभीर बनी हुई है। जिसे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि दोनों युवक अमानगंज के ही आदिवासी मोहल्ला के आदिवासी समाज के हैं। वे अपने पालतू जानवरों के लिए चारा लेने खेत गये हुए थे। तभी अचानक आकाशीय बिजली गिरने से घायल हो गए है। ग्राम पिपरवाह के किसान सर्वेन्द्र यादव ने बताया गेहूं की फसल में अभी किसी तरह का नुकसान नहीं है। वही जो फसले पककर खड़ी हुई है उन फसलों को नुकसान होगा।

शाम को शाहनगर हुआ पानी-पानी
शाहनगर में नगर समेत ग्रामीण अंचलों बोरी, बिसानी, पुरैना, सुगरहा सहित करीबन २० किमी अंचलों मे दोपहर १ बजे जम के बारिश हुई। करीबन १ घंटे तक हुई लगातार बारिश से नगर की सड़कें पानी-पानी हो गईं। वहीं दूसरी ओर शाम को सात बजे के बद तेज बारिश का दौर शुरू हो गया। यह आधे घंटे बाद भी चलता रहा। शहर में जगह-जगह पानी भर जाने से लोगों की परेशानी भी बढ़ गई। किसानों का कहना है कि इस बारिश के कारण गेहूं की बाद में बोर्द गई फसल को फायदा होगा। शेष को कफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned