नई पार्टी के जरिए फिर से राजनीति में उतर रहे हैं बाईचुंग भूटिया, मुख्यमंत्री पवन चामलिंग को देंगे चुनौती

भारतीय फुटबॉल के सितारे बाईचुंग भूटिया ने साल 2013 में तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ली थी। इस साल वह टीएमसी से अलग हुए हैं।

By: Saif Ur Rehman

Published: 25 Apr 2018, 06:38 PM IST

-धीरज कुमार

नई दिल्ली। भारत के स्टार फुटबाल खिलाड़ी रहे बाईचुंग भूटिया अब खुद की नई राजनीतिक पार्टी बनाकर फिर से सियासी मैदान में गोल करने को तैयार हैं। वह गुरुवार को दिल्ली में पार्टी का ऐलान करने जा रहे हैं। उनकी पार्टी सिक्किम में दशकों से सत्तारूढ़ पवन चामलिंग सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में चुनौती देगी। पार्टी का ऐलान करने से पहले उन्होंने ‘पत्रिका’ से एक्सक्लूसिव बातचीत की और दिल खुलकर सिक्किम, खेल और फिर से राजनीति में आने का क्या मकसद है जैसे मुद्दे पर बात की।

' सिक्किम पर रहेगा पूरा ध्यान '
इसी साल तृणमूल कांग्रेस पार्टी से अलग होने वाले बाईचुंग भूटिया ने बताया कि जो काम वह बंगाल में नहीं कर पाए वह अब सिक्किम में करेंगे। बाईचुंग भूटिया के अनुसार, "यह मेरी पार्टी नहीं है। मैं सिर्फ एक सदस्य हूं। कुछ दोस्त, नए और कुछ अनुभवी लोगों को लेकर नई पार्टी शुरू करने जा रहे हैं। सिक्किम में इसकी लॉन्चिंग 2-3 महीने बाद करेंगे। बंगाल में चुनाव लड़ने का फैसला जल्दबाजी में लिया गया था। जो मैं बंगाल में नहीं कर पाया है। वह अब सिक्किम में करूंगा। भूटिया इस बार अपना पूरा ध्यान अपने गृह राज्य सिक्किम पर लगाना चाहते हैं।

पवन चामलिंग को चुनौती
सिक्किम में करीब 24 साल से पवन कुमार चामलिंग मुख्यमंत्री हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या आप सीएम चामलिंग को चुनौती देने जा रहे हैं ? उनका जवाब था कि सिक्किम में चामलिंग सरकार ने काम तो किया ही है तभी तो इतने साल से वह सत्ता पर काबिज हैं लेकिन सिक्किम से उनके अलावा कोई और नेता निकल कर सामने नहीं आ रहा हैं। भूटिया ने मुताबिक, " वह युवाओं को भी अपनी पार्टी में मौका देंगे।

पत्रिका के चेंज मेकर अभियान को सराहा
बाईचुंग भूटिया ने पत्रिका के चेंज मेकर अभियान की भी तारीफ की। भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान भूटिया ने कहा कि, " राजनीति में नए लोगों खासकर युवाओं का सामने आना बहुत जरूरी है। मैं खुद सिक्किम में यही सोच कर आया कि वहां 25 साल से एक ही पार्टी और व्यक्ति का राज है। ऐसा नहीं होना चाहिए। बदलाव जरूरी है। ‘पत्रिका’ की मुहिम काफी
दिलचस्प है। युवाओं को इसमें शामिल होना चाहिए। "

भाजपा गठबंधन पर क्या बोले भूटिया ?
भारतीय जनता पार्टी जिस तरीके से पूर्वोत्तर राज्यों में स्थानीय दलों के साथ गठबंधन कर सत्ता पर काबिज हुए है उसको देखकर भूटिया से भी भाजपा के साथ गठबंधन के बारे में पूछा गया। बाईचुंग भूटिया ने कहा कि, " हम अपनी पार्टी पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। बाद में क्या स्थितियां रहेंगी, यह बाद की बात है। मगर अभी हम अपनी पार्टी को मजबूत करेंगे और आगामी विधानसभा चुनाव में लड़ेगे। आप को यहां बता दें कि भूटिया ने तृणमूल कांग्रेस पार्टी के साथ अपना राजनीतिक सफरशुरू किया। दार्जिलिंग में तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर उन्होंने साल 2014 का लोकसभा चुनाव भी लड़ा था लेकिन उन्हें हार मिली इस साल वह TMC से अलग हुए थे। 32 सदस्यीय वाली सिक्कम विधानसभा के लिए 2019 में मतदान होगा। बाईचिंग भूटिया का पूरा इंटरव्यू आप यहां क्लिक कर सुन सकते हैं

 

Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned