ममता बनर्जी का विधायकों को निर्देश, जनता से मिलें तो पहले की गलतियों पर मांगें माफी

  • CM Mamata Banerjee का विधायकों को निर्देश
  • जनता से मिलें तो पूर्व में की गई गलतियों पर मांगें माफी
  • विधानसभा 2021 में टीएमसी को जोरदार वासपी की उम्मीद

By: धीरज शर्मा

Updated: 12 Jul 2019, 01:44 PM IST

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के बाद से पश्चिम बंगाल में बिगड़ती पार्टी की छवि को लेकर टीएमसी प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( CM Mamata banerjee ) ने एक अहम बैठक की। इस बैठक में ममता बनर्जी ने अपने विधायकों को भरोसा दिलाया कि इस बार के विधानसभा चुनाव में पार्टी जोरदार वापसी करेगी। यही नहीं उन्होंने अपने विधायकों से मधुर व्यवहार के लिए भी कहा।

सीएम ममता बनर्जी ने विधायकों से यह भी कहा कि जरूरत पड़े तो पहले की गई गलतियों के लिए जनता से माफी भी मांगें। लोगों के साथ अपना व्यवहार अच्छा रखें।

ये भी पढ़ेंः सियासी हंगामे के बीच आज से कर्नाटक विधानसभा का सत्र, कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे विधायक

mamata

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनाव के बाद पहली बार विधायकों के साथ एक बैठक आयोजित की।

इस बैठक में ममता ने विधायकों को मधुरभाषी रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आप जब भी लोगों से मिलें तो आपका व्यवहार अच्छा होना चाहिए।

वापसी के लिए शुरू करें तैयारी

ममता बनर्जी ( CM Mamata Banerjee ) ने बैठक में विधायकों से कहा कि 2021 के विधानसभा चुनाव में जोरदार वापसी करेगी।

लेकिन इसके लिए अभी से तैयारी शुरू करनी होगी। ममता ने विधायकों को सभ्य और नम्र रहकर पार्टी के लिए काम करने के निर्देश भी दिए।

 

mamata banerjee

ऐसे जीतेंगे चुनावी रण

बैठक में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधायकों को हर बूथ से चार लोगों के नाम देने को कहा है। ये चार लोग बूथ लेवल पर संगठन का काम देखेंगे।

यही नहीं यही चार लोगों की टीम आईटी सेल और लोगों तक सरकार की योजनाओं और उनके काम को पहुंचाने की जिम्मेदारी संभालेगी।

लोकसभा में गलत बयानबाजी से नुकसान

ममता बनर्जी का मानना है कि लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी के कुछ नेताओं ने गलत बयानबाजी की थी, जिसका पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचा है।

ऐसे में पार्टी इन गलतियों को सुधारकर विधानसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करना चाहती है।

bjp west bengal

Video: कर्नाटक के सियासी संकट में ये तीन बागी विधायक बदल सकते हैं पूरा गेम

बीजेपी ने दी कड़ी टक्कर

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की कुल 42 सीट में से तृणमूल कांग्रेस यानी टीएमसी के खाते में 22 सीटें ही आई थीं। जबकि 18 सीटों पर बीजेपी ने बड़ी जीत दर्ज की थी।

बीजेपी में शामिल हो रहे विधायक और नेता

आपको बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के लिए विधानसभा चुनाव में जीतना इतना आसान नहीं होगा। एक तरफ पार्टी की बिगड़ती छवि तो दूसरी तरफ विरोधियों का बढ़ता दखल।

दरअसल हाल ही में टीएमसी के विधायक विल्सन चांपरामैरी समेत कई नेता बीजेपी का दामन थाम चुके हैं। इससे कुछ समय पहले भी तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक सहित 12 पार्षदों ने दिल्ली में बीजेपी का दामन थाम लिया था।

ऐसे में बीजेपी से पार पाना भी तृणमूल कांग्रेस के लिए इतना आसान नहीं होगा।

अपने विधायकों, नेताओं और पार्षदों को संतुष्ट कर जनता का भरोसा जीतना ममता बनर्जी के लिए किसी अग्नि परीक्षा से कम नहीं है।

कट मनी से भी नारजगी
ममता का मानना है कुछ नेता प्रदेश में अवैध कमीशन बंटोरने का काम कर रहे हैं। दरअसल प. बंगाल में अवैध कमीशन को कट मनी भी कहा जाता है। नेताओं की इन्हीं हरकतों से प्रदेश के लोग नाराज भी हैं।

BJP
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned