पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा का बड़ा बयान - मीडिया की स्‍वतंत्रता छीनना चाहती है येदियुरप्‍पा सरकार

पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा का बड़ा बयान - मीडिया की स्‍वतंत्रता छीनना चाहती है येदियुरप्‍पा सरकार

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Oct, 11 2019 11:48:50 AM (IST) | Updated: Oct, 11 2019 01:35:02 PM (IST) राजनीति

  • फैसले के विरोध में पत्रकारों का विरोध प्रदर्शन
  • स्‍पीकर से फैसला वापस लेने की मांग
  • प्रदेश सरकार मीडिया की आजादी पर अंकुश न लगाए

नई दिल्‍ली। देश के पूर्व पीएम और जेडीएस प्रमुख एचडी देवेगौड़ा ने लंबे अरसे बाद प्रदेश सरकार की कार्यशैली पर सख्‍त टिप्‍पणी की है। उन्‍होंने कहा है कि कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही का सीधा प्रसारण प्रसारण पर रोक लगाकर प्रदेश सरकार ने अच्‍छा नहीं किया है। उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रीय और क्षेत्रीय निजी टीवी चैनलों के सीधा प्रसारण पर रोक लगाकर येदियुरप्‍पा सरकार ने अच्‍छा नहीं किया है।

लोकतांत्रिक मर्यादाओं का पालन करे सरकार

उन्‍होंने इस मामले में कर्नाटक विधानसभा स्‍पीकर के फैसले पर अपत्ति दर्ज कराई है। उन्‍होंने कहा है कि वर्तमान सरकार के रवैये से साफ है कि उसका यह फैसला लोकतांत्रिक मर्यादाओं के खिलाफ है। सरकार जान बूझकर मीडिया की स्वतंत्रता को छीनना चाहती है। यह लोकतंत्र का गला घोटने के समान है। उन्‍होंने उम्‍मीद जाहिर की है कि प्रदेश सरकार अपने फैसले पर पुनर्विचार करेगी। देवेगौड़ा न कर्नाटक विधानसभा के स्‍पीकर से फैसला वापस लेने की अपील भी की है।

अपना फैसला वापस लें स्‍पीकर

बता दें कि कर्नाटक सरकार ने विधानसभा के अंदर मीडिया कवरेज पर तीन दिनों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार के इस फैसले के विरोध में भारी संख्‍या में पत्रकार बेंगलुरु के मौर्य सर्कल पर धरने पर बैठ गए हैं। साथ ही पत्रकारों का विरोध प्रदर्शन जारी है। पत्रकारों की मांग है कि विधानसभा अध्‍यक्ष अपना फैसला तत्‍काल वापस लें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned