केरल के परिवहन मंत्री थॉमस चांडी ने अपने पद से दिया इस्तीफा, घिरे थे इन आरोपों से

केरल के परिवहन मंत्री थॉमस चांडी ने अपने पद से दिया इस्तीफा, घिरे थे इन आरोपों से

Kapil Tiwari | Publish: Nov, 15 2017 01:38:58 PM (IST) राजनीति

मंगलवार को केरल हाईकोर्ट ने थॉमस चांडी को लगाई थी फटकार, कहा था कि अच्छा होगा अगर वो खुद ही इस्तीफा दे दें तो

तिरुवनंतपुरम: भूमि अधिग्रहण के आरोपों से घिरे केरल के परिवहन मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता थॉमस चांडी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि चांडी केरल सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। उनपर बीजेपी विधायक ने अलपुझा जिले में लेक रिजार्ट में भूमि अतिक्रमण का आरोप लगाया था, जिसके बाद से थॉमस चांडी के इस्तीफे की लगातार हो रही थी। कांग्रेस नेतृत्व वाली यूडीएफ और भाजपा चांडी के इस्तीफे की मांग कर रही थी। आखिरकार इस्तीफे के बढ़ते दबाव को देखते हुए थॉमस चांडी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

बीजेपी लगातार डाल रही थी इस्तीफे का दबाव
आपको बता दें कि मंगलवार को केरल हाईकोर्ट से भी चांडी को फटकार लगी थी और कोर्ट ने उन्हें पद छोड़ने के लिए कहा था। इससे पहले रविवार को केरल की बीजेपी इकाई ने राज्यपाल पी सदाशिवम से परिवहन मंत्री थॉमस चांडी को अयोग्य घोषित करने का अनुरोध किया था। साथ ही राज्य मंत्रिमंडल में मंत्री के तौर पर कामकाज करने से रोकने का अनुरोध किया था। केरल हाईकोर्ट ने चांडी की रिट याचिका को खारिज करते हुए कहा था कि अच्छा होगा थॉमस चांडी खुद ही अपने पद से इस्तीफा दे दें।

हाईकोर्ट ने लगाई थी फटकार
आपको बता दें कि थॉमस चांडी के चलते राज्य सरकार को असहज स्थिति का सामना करना पड़ रहा था। चांडी अपने खिलाफ भूमि घोटाले मामले में जांच का आदेश खारिज करवाने के लिए हाई कोर्ट गए थे। उनकी इसी याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि वो खुद ही अपने पद से इस्तीफा देकर, एक आम आदमी की तरह इस केस को लड़ें।

ये है चांडी पर आरोप
चांडी के खिलाफ केरल में व्यापक पैमाने पर भू-संरक्षण कानून के दुरुपयोग का आरोप है। केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि हम कोर्ट के फैसले का अध्ययन करने के बाद कार्रवाई करेंगे। थॉमस चांडी एनसीपी से विधायक हैं। एनसीपी राज्य की सत्तारूढ़ लेफ्ट डेमोके्रटिक फ्रंट में शामिल है।

Ad Block is Banned