अमित शाह के बंगाल पहुंचते ही ममता बनर्जी को हुआ बड़ा नुकसान, करना पड़ सकता है हार सामना!

  • अमित शाह की मेगा रैली में शामिल हुए सुवेंदु अधिकारी समेत कई टीएमसी और दूसरी पार्टियों के नेता
  • 7 टीएमसी, 1-1 कांग्रेस, सीपीआई और सीपीआईएम नेताओं ने की बीजीपी की सदस्यता ग्रहण

By: Saurabh Sharma

Published: 20 Dec 2020, 08:36 AM IST

नई दिल्ली। बीजेपी के चाणक्य और देश के गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल के चुनावी रण में पांव रखते ही ममत बनर्जी को बड़ा झटका दे दिया। शाह के बंगाल पहुंचते ही टीएमसी के 7 नेता बीजेपी में शामिल हो गए। साथ ही कांग्रेंस, सीपीआई और सीपीआईएम के एक-एक नेता ने भी बीजेपी को ज्वाइन किया। बीजेपी ने टीएमसी के नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल बड़ी मनोवैज्ञानिक जीत हासिल की है। इसकी एक और वजह यह भी है कि इन 10 नेताओं में टीएमसी के सुवेंदु अधिकारी का बीजेपी में शामिल होगा ममता के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। सुवेंदु अधिकारी पार्टी के बड़े नेताओं में होने के साथ-साथ चुनाव के दौरान ममता के प्रमुख रणनीतिकारों में से एक थे।

सुवेंदु अधिकारी ने क्यों छोड़ी टीएमसी
सुवेंदु अधिकारी ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी को एक आधिकारिक पत्र को संबोधित करते हुए अपना इस्तीफा दिया था। इससे पहले, अधिकारी ने पिछले महीने 27 नवंबर को ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले राज्य मंत्रिमंडल से मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने दो दिन पहले हुगली रिवर ब्रिज कमिश्नरके अध्यक्ष का पद को भी छोड़ दिया था। पूर्व-नंदीग्राम विधायक और पूर्व में ममता बनर्जी के भरोसेमंद अधिकारी तृणमूल कांग्रेस में अभिषेक बनर्जी और राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर द्वारा लिए गए संगठनात्मक फैसलों से नाखुश थे।

ये लोग भी बीजेपी में शामिल
सुवेंदु अधिकारी के अलावा टीएमसी के दूसरे एमएलए और एमपी भी बीजेपी में शामिल हुए। जिसमें टीएमसी एमपी सुनील मोंडाल का नाम भी शामिल है। वहीं बनाश्री मैते, बिस्वजीत कुंडू, सैतक पंजा, शिभद्र दत्ता, सुक्र मुंद्रा और कभी सीपीआईएम की टिकट पर जीत दर्ज वाली दिपाली बिस्वास जो बाद में टीएमसी में शामिल हो गई थी, भी बीजेपी में शामिल हो गई हैं। कांग्रेस के एमएलए सुदीप मुखर्जी, सीपीआईएम के तपासी मोंडाल और सीपीआई के अशोक डिंडा भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं।

बीजेपी को हो सकता है बड़ा फायदा
पश्चिम बंगाल में हुई इस सियासी अदला बदली का फायदा बीजेपी को हो सकता हैै। जानकारों की मानें तो टीएमसी और बाकी पार्टियों के जिन विधायकों और नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा हैं, वो उस क्षेत्र से आते हैं, जहां पर बीजेपी काफी कमजोर है। ऐसे में उन नेताओं का फायदा अब आने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी को सकता है। वहीं दूसरी ओर आने वाले दिनों में टीएमसी के दूसरे नेताओं और कार्यकर्ताओं को बीजेपी में शामिल करने में काफी मदद मिलेगी।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned