भाजपा छोड़ने की अफवाहों पर पंकजा मुंडे बोलीं- जो भी कहना है 12 दिसंबर को कहूंगी

  • मुंडे ने कहा कि फेसबुक पोस्ट को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया।
  • यह अफवाह उड़ाई गई कि वह भाजपा छोड़ने की योजना बना रही हैं।
  • सोमवार को अपने ट्विटर हैंडल से पार्टी का नाम हटा दिया।

मुंबई। महाराष्ट्र की पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे-पलवे ने मंगलवार को कहा कि उनकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) छोड़ने की कोई योजना नहीं है। इससे तीन दिन पहले सोशल मीडिया पर उनके कुछ कदमों से पार्टी के अंदर चिंता की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। इससे पहले मंत्रिमंडल के उनके पूर्व सहयोगी विनोद तावड़े ने उनके आधिकारिक आवास पर मंगलवार दोपहर मुंडे से मुलाकात की और विस्तृत वार्ता की, जिसके बाद मुंडे ने यह बयान दिया।

बड़ी खबरः प्रियंका गांधी के आवास पर सुरक्षा में सेंध की वजह का खुलासा.. गृहमंत्री अमित शाह ने लिया राहुल का नाम..

मुंडे ने कहा कि रविवार की उनके फेसबुक पोस्ट को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया और यह अफवाह उड़ाई गई कि वह भाजपा छोड़ने की योजना बना रही हैं। खासकर सोमवार को इस चर्चा ने तब जोर पकड़ा, जब उन्होंने सोमवार को अपने ट्विटर हैंडल से पार्टी का नाम हटा दिया।

पंकजा ने आगे कहा कि मैंने पार्टी के लिए काम किया है और मुझपर लगे आरोपों से मैं दुखी हूं। फिलहाल मैं कुछ नहीं कहना चाहती और जो भी कहना है 12 दिसंबर को कहूंगी।

उन्होंने यह भी कहा कि उनकी किसी भी प्रकार से भाजपा नेतृत्व पर दबाव बनाने की कोई इच्छा नहीं थी। यह कयास लगाए जा रहे थे कि अक्टूबर 2019 विधानसभा चुनाव हारने के बाद वह पार्टी में एक शीर्ष पद चाहती हैं।

हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के रेप-मर्डर में परिवारवालों का बड़ा खुलासा.. कॉल कर यह कह रही थी बेटी..

बैठक के बाद तावड़े ने कहा कि पंकजा फेसबुक पोस्ट पर मीडिया रिएक्शन से काफी परेशान थीं लेकिन उन्हें पार्टी से कोई दिक्कत नहीं है। इसके अलावा उन्हें जो कहना है वह 12 दिसंबर को अपने पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर कहेंगी।

इस बीच, राजनीतिक सूत्रों का कहना है कि भाजपा के राज्य व केंद्र के शीर्ष नेता उन्हें मनाने के लिए बीते तीन दिनों से उनके संपर्क में हैं।

BJP
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned