पुलवामा अटैक: शरद पवार ने की पीएम मोदी की आलोचना, कहा- सर्वदलीय बैठक में होने की बजाए कर रहे थे रैली

पुलवामा अटैक: शरद पवार ने की पीएम मोदी की आलोचना, कहा- सर्वदलीय बैठक में होने की बजाए कर रहे थे रैली

Shiwani Singh | Updated: 20 Feb 2019, 09:56:56 AM (IST) राजनीति

1.शरद पवार ने सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी के ना आने पर सवाल उठाए हैं।

2.पुलवामा हमले को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी शामिल नहीं हुए थे।

3.इतने बड़े हमले के बाद भी पीएम मोदी चुनावी रैली कर रहे थे।

नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के रवैए को लेकर नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने आलोचना की है। मंगलवार को शरद पवार ने कहा कि देश को हिला देने वाले पुलवामा आतंकी हमले को लेकर बीते शनिवार केंद्र सरकार की ओर से सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी, लेकिन पीएम ने इस बैठक में शामिल होने की बजाए रैली में जाना ज्यादा पसंद किया। बता दें कि पवार ने यह बातें पुणे में मीडिया से बातचीत के दौरान कहीं।

यह भी पढ़ें-1 करोड़ केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार ने खोला खजाना, महंगाई भत्ता 3

क्या कहा शरद पवार ने

शरद पवार ने कहा कि बीते शनिवार को पुलवामा आतंकी हमले को लेकर एक सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी। इस दौरान हम से कहा गया था कि इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करेंगे। बैठक में पीएम मोदी शामिल हो रहे हैं। यह मानकर हम सब दिल्ली आए, क्योंकि पुलवामा में हुआ आतंकी हमला देश पर हमला था। ऐसे समय में हम सब को देश के साथ खड़े होना था, लेकिन इतने बड़े हमले पर भी पीएम का यह रवैया कई सवाल खड़े करता है।

पीएम यहां कर रहे थे रैली

pm

एनसीपी अध्यक्ष ने कहा कि पुलवामा हमले में देश के 44 जवान शहीद हो गए। उनकी शहाद से पूरा देश गमगीन था। देश में शोक की लहर थी, लेकिन ऐसी गंभीर स्थिति में भी प्रधानमंत्री बैठक में ना होकर वह महाराष्ट्र के धुले और यवतमाल में रैलियों को संबोधित कर रहे थे जहां उन्होंने हमारी आलोचना की।'

पुलवामा हमला

pulwama

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में सीआरपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए थे। वहीं, हमले के बाद पुलवाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के 5 जवान भी शहीद हो गए। सुरक्षाबलों ने इस एनकाउंटर में तीन आतंकियों को भी मार गिराया। बता दें कि इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने ली थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned