शिवसेना का मोदी सरकार के खिलाफ पोस्‍टर वार, पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर जताया ऐतराज

शिवसेना का मोदी सरकार के खिलाफ पोस्‍टर वार, पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर जताया ऐतराज

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Sep, 10 2018 01:58:12 PM (IST) राजनीति

पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर शिवसेना का सरकार पर निशाना, मुंबई में लगाए पोस्टर

नई दिल्‍ली। पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर एक तरफ कांग्रेस सहित 21 विपक्षी दलों ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो दूसरी तरफ सरकार में सहयोगी शिवसेना ने मोदी सरकार के खिलाफ पोस्‍टर वार शुरू कर दिया है। शिवसेना से यह वार पेट्रोल-डीजल की कीमतें सोमवार को बढ़ते-बढ़ते करीब 90 रुपए के पास पहुंचने के विरोध में शुरू किया है। शिवसेना के नेताओं का कहना है कि मोदी सरकार कीमतों के बढ़ोतरी से होने वाली परेशानियों से बेपरवाह है। सरकार को इस ओर ध्‍यान देने की जरूरत है। ऐसा नहीं करने पर भाजपा का इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का पलटवार, पूछा- बंद के दौरान बच्‍ची की मौत के लिए जिम्‍मेदार कौन?

रिकॉर्ड स्‍तर पर कीमत
पेट्रोल-डीजल के मूल्‍यों में बेतहाशा से देश भर में लोग परेशान हैं। विपक्षी पार्टियों ने इस मूल्य वृद्धि के खिलाफ देशभर में हड़ताल और प्रदर्शनों का ऐलान किया है। शिवसेना के नेताओं का कहना है कि लगातार की गई टैक्स वृद्धि की वजह से तेल की कीमतों में रिकॉर्ड दामों पर पहुंच गया है।

क्‍या यही हैं मोदी के अच्‍छे दिन?
शिवसेना नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार की ओर से इस बात पर ध्‍यान न देने की वजह से पार्टी को मोदी सरकार के खिलाफ पोस्‍टर वार शुरू करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। मुंबई मे शिवसेना के हेडक्वार्टर शिवसेना भवन के सामने पेट्रोल-डीजल के दामों को दर्शाना वाला यह पोस्‍टर लगाने की पीछे शिवसेना का मकसर अपने तरीके से विरोध जताना है। न कि कांग्रेस के बंद में शामिल होना। शिवसेना के पोस्टर में पेट्रेाल-डीजल और गैस के 2015 और 2018 के दामों को दिखाया गया है और साथ में मोदी सरकार से ये सवाल भी पूछज्ञ गया है कि क्‍या यही हैं मोदी साहब के अच्छे दिन!

Ad Block is Banned