बेसहारा बालकों को मिले दादा-दादी के रूप में नए पालनहार

बेसहारा बालकों को मिले दादा-दादी के रूप में नए पालनहार

Rakesh kumar Verma | Publish: Jul, 13 2018 10:43:24 AM (IST) Pratapgarh, Rajasthan, India

बेसहारा बालकों को मिले दादा-दादी के रूप में नए पालनहार

प्रतापगढ़. मुख्यमंत्री की पालनहार योजना दो नन्ही बच्चियों के लिए सहारा बनी और दादा-दादी के रूप में उन्हें नये पालनहाल मिल गए। मां के दो बच्चियों को दादा-दादी के सहारे छोडकऱ चले जाने के बाद अब योजना के तहत आर्थिक सहायता मिलेगी और वे अब पढ़ लिख सकेंगी। राज्य सरकार के निर्देशानुसार जन समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिये माह के प्रत्येक गुरूवार को मिनी सचिवालय में आयोजित जिला स्तरीय जनसुनवाई का आयोजन होता है। जिला कलक्टर भंवरलाल मेहरा की अध्यक्षता में आईटी केन्द्र में आयोजित जनसुनवाई में जिला स्तरीय अधिकारी एवं वीसी के माध्यम से ब्लॉक स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे। जनसुनवाई में जब 55 वर्षीय दादा रमेशचन्द्र एवं दादी पार्वती बाई ने दो छोटी बच्चियों को गोद में उठाकर जिला कलक्टर के समक्ष अपना प्रार्थना पत्र रखा और निवेदन किया कि इन बालिकाओ की विधवा मां इन्हें हमारे पास छोडकऱ चली गई है। इस पर जिला कलक्टर ने आवेदन पत्र को पढकऱ तत्काल उपस्थित अधिकारी को दोनो बच्चियों का दादा-दादी के रूप में नये पालनहार आवेदन पत्र तैयार करने एवं अन्य योजना के तहत मिलने वाले लाभ देने के निर्देश दिए। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक जेपी चांवरिया ने बताया कि मुख्यमंत्री पालनहार योजना में अनाथ-बच्चों के पालन पोषण, शिक्षा आदि की व्यवस्था संस्थागत नहीं की जाकर समाज के भीतर ही बच्चे के निकटतम रिश्तेदार एवं परिचित व्यक्ति के परिवार में करने के इच्छुक व्यक्ति को पालनहार बनाकर आर्थिक सहायता भी उपलब्ध भी कराई जाती है। योजना में पांच वर्ष तक के बालको को 500 रूपये एवं इससे अधिक उम्र के बालकों को प्रतिमाह 1 हजार रूपये की आर्थिक सहायता दी जाती है।


-वीसी में ब्लॉक एवं जिलाधिकारियो को दिए निर्देश
प्रतापगढ़.मिनी सचिवालय के आईटी केन्द्र में आयोजित जिला स्तरीय जनसुनवाई में जिला कलक्टर भंवरलाल मेहरा ने वीसी से ब्लॉक स्तरीय एवं जिला स्तरीय अधिकारियों से योजनाओ की प्रगति की जानकारी ली और जनसमस्याओ का ग्राम स्तर पर ही निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने व्यक्तिगत लाभ के पात्र लोगों को 31 जुलाई तक स्वीकृतियां जारी कर लाभान्वित करने के निर्देश भी दिए। जनसुनवाई में जनजाति क्षेत्र का विशेष मूल निवास प्रमाण-पत्र जारी नही करने के एक प्रार्थना पत्र पर जिला कलक्टर ने छोटीसादड़ी के तहसीलदार से वीसी से बात की एवं मूल निवास प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्माणाधीन आवास के लिए सडक़ पर रास्ता नही देने, चरनोट भूमि से अतिक्रमण हटाने के प्रकरण में उपखण्ड अधिकारियो को मौका देखकर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए। इसके अलावा उन्होंने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तृतीय चरण के कार्य 15 जुलाई तक करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने पूर्ण कार्यो की सीसी अपलोड कर भुगतान कार्यवाही समय पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज शिकायतों का नियमित अवलोकन एवं निराकरण करने तथा व्यक्तिगत लाभार्थियो को 31 जुलाई तक पात्र लोगों की स्वीकृतियां निकालकर लाभान्वित करने के निर्देश दिए। जनसुनवाई में पेंशन बढ़ाने, नगर परिषद प्रतापगढ़ क्षेत्र में प्लाट आवंटन एवं रास्ता खुलवाने सहित विभिन्न प्रार्थना पत्रों पर जिला कलक्टर ने सीधा संवाद किया और अधिकारियो को मौके पर लाभान्वित करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त जिला कलक्टर हेमेन्द्र नागर ने जनसुनवाई में सभी व्यक्तिगत एवं सामुदायिक पट्टे जारी करने के निर्देश उपस्थित सहायक उपवन संरक्षक को दिए। उन्होंने भू-आवंटन के प्रस्ताव 15 अगस्त तक करने के निर्देश सभी उपखण्ड अधिकारियों को दिए। उन्होंने स्वीकृत सभी कुएं गहरे कराने के कार्य भी तत्काल पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. वीसी गर्ग, उपखण्ड अधिकारी वारसिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी सहित जिला स्तरीय अधिकारी एवं वीसी के माध्यम से सभी उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार एवं विकास अधिकारी जुड़े रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned