कहीं मेघगर्जना के साथ बारिश तो कहीं अंधड़

प्रतापगढ़.
जिले में विदा होते मानसून की रोजाना बारिश हो रही है। जिले में शुक्रवार को हुई मूसलाधार बारिश से नदी-नाले उफान पर रहे। वहीं कई इलाकों में मेघगर्जना के साथ बारिश हुई। शाम को अंधड़ के साथ तेज बारिश हुई। जिलेभर में हो रही बारिश से खेतों में काफी नुकसान होने लगा है। जिले में शुक्रवार सुबह आठ बजे तक गत २४ घंटों में सर्वाधिक बारिश छोटीसादड़ी इलाके में हुई। यहां ५७ एमएम बारिश दर्ज की गई है। ऐसे में इलाके में कई नदी-नाले उफाल पर रहे।

By: Devishankar Suthar

Published: 25 Sep 2021, 07:28 AM IST


-कांठल में मूसलाधार बारिश
-कई नदी-नाले उफने
- झमाझम बारिश से कई जलाशय तालाब लबालब
प्रतापगढ़.
जिले में विदा होते मानसून की रोजाना बारिश हो रही है। जिले में शुक्रवार को हुई मूसलाधार बारिश से नदी-नाले उफान पर रहे। वहीं कई इलाकों में मेघगर्जना के साथ बारिश हुई। शाम को अंधड़ के साथ तेज बारिश हुई। जिलेभर में हो रही बारिश से खेतों में काफी नुकसान होने लगा है। जिले में शुक्रवार सुबह आठ बजे तक गत २४ घंटों में सर्वाधिक बारिश छोटीसादड़ी इलाके में हुई। यहां ५७ एमएम बारिश दर्ज की गई है। ऐसे में इलाके में कई नदी-नाले उफाल पर रहे। धोलापानी इलाके में नदी पर बने एनिकट से तेज वेग से पानी बहा। इससे कई मार्ग बाधित रहे।
छोटीसादड़ी. क्षेत्र में झमाझम बारिश के चलते शहर का प्रमुख तालाब दो वर्ष बाद लबालब हो गया और चादर चल गई। वहीं तालाब की चादर चलने से भंवरमाता में स्थित एनीकट में भी पानी की आवक बढऩे से एनीकट की चादर भी तेज चलने से भंवरमाता के समक्ष गिरने वाला जलप्रपात भी तेज गर्जना और वेग से गिर रहा है। इधर, लगातार हो रही बरसात ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। उनकी मेहनत पर पानी फिफरता दिखाई दे रहा है। लगातार हुई बारिश से खेतो में पानी भर जाने से सोयाबीन, मूंगफली, मूंग, मक्का आदि फसलों को भारी नुकसान हो रहा है। कई गांवों के जलस्त्रोत के साथ साथ खेत पानी से लबालब हो गए हैं। छोटीसादड़ी में शुक्रवार सुबह 8 बजे तक 24 घंटे में 57 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। अब तक कुल 878 मिलीमीटर करीब 36 इंच बारिश हुई। इससे उपखंड के अधिकांश नदी व नालों में पानी बह रहा है।
करजू . ग्रामीण क्षेत्र में शुक्रवार को हुई झमाझम बारिश के चलते किसानों कि चिंता बढ़ रही हैं लगातार हो रही बरसात ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में मेहनत पर पानी फिरता दिखाई दे रहा है। क्षेत्र मे लगातार हो रही बारिश से खेतों में पानी भरा गया है। काफी हिस्से में फसलें नष्ट हो गई। कई खेतों में दाना पुन: अंकुरित होने लगा। काश्तकारों ने बताया कि लगातार बारिश के कारण बीज अंकुरित होने लगे हैं। फसल खराब हो चुकी है। काश्तकारों ने प्रशासन से गिरदावरी करा मुआवजा की मांग की है।
सालमगढ़ अचानक हुई तेज बारिश
सालमगढ़. यहां कस्बे में शुक्रवार शाम होते.होते अचानक ही तेज मूसलाधार बारिश हुई। अचानक शुरू हुई बारिश में तेज मेघगर्जना से ग्रामीण अचंभित रह गए। करीब आधे घंटे तक मूसलाधार बारिश चलती रही। शाम तक बारिश लगातार जारी रही।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned