प्रतापगढ़ में भाजपा की मौजूदा हालात का जायजा लेने आए तीन विधायक

सभापति के कांग्रेस में जाने से भाजपा को लगा था बड़ा झटका

By: Rakesh Verma

Updated: 20 Sep 2021, 05:00 PM IST

प्रतापगढ़. जिले में भारतीय जनता पार्टी की कमजोर होती स्थिति के असली कारण जानने के लिए प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर रविवार को तीन विधायक प्रतापगढ़ आए। उन्होंने सर्किट हाउस में पार्टी नेताओं से अलग-अलग ग्रुप में बातचीत की। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से लेकर पंचायत चुनाव तक भाजपा को लगभग हर जगह लगातार हार का सामना करना पड़ रहा था। छह माह पहले नगर परिषद के चुनाव में पार्टी ने जीत हासिल की। भाजपा नेता प्रहलाद गुर्जर की पत्नी रामकन्या गुर्जर को सभापति बनाया गया, लेकिन हाल ही वे भी दो पार्षदों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गाई। इसे पार्टीम में बड़ा झटका माना गया। जिले में पार्टी की मौजूदा हालत की जानकारी लेने प्रदेश नेतृत्व ने तीन विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को प्रतापगढ़ भेजा। इस प्रतिनिधिमंडल में चित्तौडगढ़़ विधायक चंद्रभान सिंह आक्या, रानीवाड़ा विधायक नारायणसिंह देवल और रेवदर विधायक जगसीराम कोली हैं।

सर्किट हाउस में भी पार्टी में गुटबाजी दिखी
तीनों विधायकों ने सर्किट हाउस में पार्टी के जिलाअध्यक्ष गोपाल कुमावत और अन्य पदाधिकारियों से बातचीत की और मौजूदा हालत की जानकारी ली। इस दौरान भी पार्टी में गुटबाजी साफ नजर आई। पूर्व मंत्री नंदलाल मीणा के पुत्र व जिला महामंत्री हेमंत मीणा और पूर्व सभापति कमलेश डोशी अपने समर्थकों के साथ अलग से आए, जबकि जिला अध्यक्ष कुमावत अलग से बैठे थे।

विधायकों की कार रास्ते में हुई दुघर्टनाग्रस्त
प्रतापगढ़. कार्यकर्ताओं से चर्चा के लिए जयपुर से प्रतापगढ़ आ रहे विधायक चंद्रभान सिंह की कार रविवार को निंबाहेड़ा के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। कार में उस समय उनके साथ दो अन्य विधायक नारायण सिंह देवल और जगसीराम कोली भी बैठे थे। हालांकि किसी को कोई चोट नहीं आई। जानकारी के अनुसार तीनों विधायक एक ही कार में आ रहे थे। इस दौरान निंबाहेड़ा के पास उनकी कार का टायर फट गया। बाद में टायर बदलवाया गया। इस दौरान सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। हालांकि बड़ा हादसा होने से टल गया। हादसा निम्बाहेड़ा के ठीकरिया के पास हुआ।।

पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं
हम प्रतापगढ़ में पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत करने आए हैं। पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है। पार्टी के कार्यकर्ता विधारधार से जुड़े हुए हैं और निष्ठावान है। इसलिए फूट जैसी कोई बात नहीं है। सभापति रामकन्या गुर्जर और उनके पति प्रहलाद गुर्जर निजी कारणों से कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इसका पार्टी में गुटबाजी से कोई लेना देना नहीं है।

नारायण सिंह देवल, विधायक रानीवाड़ा

Rakesh Verma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned