बालगृह संप्रेषण से दो बाल अपचारी फरार


प्रतापगढ़. लोहारिया स्थित बाल सम्प्रेक्षण गृह एवं किशोर गृह से हाल ही में दो बाल अपचारी जाली तोडक़र फरार हो गए। यहां जब राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव के निरीक्षण करने पहुंचे तो यह स्थिति सामने आई। इस पर न्यायाधीश ने संप्रेषण प्रभारी को कड़ी फटकार लगाई और स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने संदेह जताया कि इसमें यहां के कर्मचारी की मिलीभगत हो सकती है।

By: Devishankar Suthar

Published: 04 Mar 2021, 08:17 AM IST


- न्यायिक अधिकारी पहुंचे, किया निरीक्षण और लिया जायजा
-प्रभारी से मांगी रिपोर्ट, सुधार के निर्देश
प्रतापगढ़. लोहारिया स्थित बाल सम्प्रेक्षण गृह एवं किशोर गृह से हाल ही में दो बाल अपचारी जाली तोडक़र फरार हो गए। यहां जब राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव के निरीक्षण करने पहुंचे तो यह स्थिति सामने आई। इस पर न्यायाधीश ने संप्रेषण प्रभारी को कड़ी फटकार लगाई और स्पष्टीकरण मांगा है।
इस संबंध में कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक को भी लिखा गया है।
राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश आलोक सुरोलिया के मार्ग दर्शन में प्राधिकरण सचिव लक्ष्मीकांत वैष्णव मंगलवार को सम्प्रेषण गृह, किशोर गृह एवं शिशु गृह के आकस्मिक निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के दौरान मौके पर उपस्थित प्रभारी भंवरंिसह के मुताबिक बाल अपचारियों की संख्या 10 होना बताया गया। जबकि निरीक्षण के दौरान गणना करने पर 8 बाल अपचारी पाए गए। जिस संबंध में प्रभारी भंवरसिंह ने दबी जुबान में दो बाल अपचारियों का भाग जाना जाहिर किया। न्यायाधीश ने स्थिति का अवलोकन किया तो यह स्थिति सामने आई कि जो जाली तोड़ी गई है, वह मुख्य चौक में खुलती है। इस प्रकार तीन केयर टेकर, स्टॉफ और गार्ड वहां मौजूद होने के बावजूद जाली तोडऩे व किसी को पता न चलना संशय और उपेक्षा की स्थिति को प्रकट करता है। सम्पेषण गृह प्रभारी को प्राधिकरण सचिव ने इस संबंध में अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के लिए निर्देश दिए है। इसके साथ ही प्राधिकरण सचिव ने गत निरीक्षण के दौरान कमजोर जालियों को सुधारने के संबंध में निर्देश दिए गए। लेकिन निर्देशों के बाद भी कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई। इस संबंध में प्राधिकरण सचिव वैष्णव ने स्पष्टीकरण मांगा है।
प्राधिकरण के अलीमुद्दीन कुरैशी को आदेश दिया गया कि सम्पूर्ण प्रकरण की सूचना जिला पुलिस अधीक्षक सीडब्ल्यूसी प्रभारी संप्रेषण गृह, अधीक्षक बाल अधिकारिता विभाग, जिला जज आदि को लिखित में सूचनाएं भिजवाए।
:=:=
अरनोद उपखंड अधिकारी की अनूठी पहल
प्रतापगढ़.
यहां उपखंड अधिकारी प्रकाशचंद्र रेगर ने दो पक्षों में आपसी राजीनामा करवाया और परस्पर माला पहना कर स्वागत किया। मामला प्रतापपुरा ग्राम पंचायत हिंगलाट का है। यहां उंकार पुत्र कालिया मीणा पव अन्य लोगों ने अपनी पुश्तैनी आराजी में हिस्सा चाहने के लिए न्यायालय उपखंड अधिकारी अरनोद में वाद दर्ज करवाया था। जिसमें उपखंड मजिस्ट्रेट ने बड़े भाई चोखला पुत्र कालिया मीणा से राजीनामे द्वारा पुश्तैनी आराजियात को भाइयों में बराबर बंटवारा कर रिश्ते की नई मिसाल पेश की। उपखंड मजिस्ट्रेट प्रकाश चंद्र रेगर द्वारा चारों भाइयों को माला पहनाकर बधाई दी।

Devishankar Suthar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned