BIG BREAKING- प्रधानपति के भाई को पहले गोलियों से भूना फिर रेता गला

Ashish Kumar Shukla | Publish: Apr, 13 2018 10:13:25 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

वह दुकान बंद कर लोनी नदी के पुल से घर की तरफ जा रहा था कि पुल पर ही बदमाशों ने उसका रास्ता रोक लिया और उसे मौत के घाट उतार दिया

प्रतापगढ़. जिले के बाबूगंज इलाके में पान व्यवसाई की बेखौफ बदमाशों ने गला रेतकर हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि वह दुकान बंद कर लोनी नदी के पुल से घर की तरफ जा रहा था कि पुल पर ही बदमाशों ने उसका रास्ता रोक लिया और उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना की जानकारी मिलते ही नाराज लोगों ने जमकर बवाल काटा। सूचना के बाद मौके पर भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।

बतादें कि बाबूगंज बाजार में पान की दुकान चलाने वाले मो० मुस्तकीम (55) प्रधान पति मो. नवाब का बड़ा भाई था। वो हर रोज पान की दुकान बंद करके घर जा रहा था। रास्ते में ही पहले बदमाशों ने उसे रोककर गोलियां से हमला किया। बाद में बेरहमी से उसका गला रेतकर उसे मौत के घाट उतार दिया। सूचना मिलने पर परिजनों ने घटना की जानकारी इलाकाई पुलिस को दी , मौके पर पहुंचे जेठवारा व लालगंज कोतवाल सहित दो थानों की फोर्स ने लोगों को समझाना बुझाना शुरू किया। लेकिन इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों का हंगामा कम नहीं हो रहा है। पुलिस पोस्टमार्टम कराने के लिए जैसे शव को लेने के लिए बढ़ी गांव के लोगों ने शव ले जाने से रोक दिया। इतना ही नहीं पुलिस प्रशासन के खिलाफ लोगों ने जमकर नारेबाजी शुरू कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि जबतक मौके पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक नहीं पहुंच जाते तब तक शव को नहीं ले जाने दिया जायेगा।

हालांकि पूरे मामले में अब तक ये जानकारी नहीं मिल सकी है कि आखिरकार किस वजह से इस घटना को अंजाम दिया गया है। लेकिन कुछ लोग इस बात का अंदेशा जता रहे हैं कि गांव में प्रधानी की राजनीति को लेकर कुछ लोगों की नजर में प्रधान का परिवार खटक रहा था। इसलिए पुलिस इस हत्या को राजनीति से भी जोड़कर देख रही है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned