BIG BREAKING अब बाहुबली राजा भैया के इलाके के धार्मिक स्थलों से पुलिस ने उतरवाये लाउडस्पीकर, फिर ये कहा...

BIG BREAKING अब बाहुबली राजा भैया के इलाके के धार्मिक स्थलों से पुलिस ने उतरवाये लाउडस्पीकर, फिर ये कहा...

Ashish Kumar Shukla | Publish: Sep, 18 2018 11:01:39 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

17 सितंबर को कुंडा के लोगों ने बंद किया था बाजार प्रशासन पर लगाये थे गंभीर आरोप

प्रतापगढ़. एक दिन पहले ही हनुमान जयंती के लिए परमीशन न मिलने के कारण कुंडा बाजार के लोगों की तरफ से बाजार बंदी के बाद प्रसाशन अगले दिन सख्त रहा। प्रशासन ने धार्मिक स्थलों पर जमकर निगरानी रखी। साथ ही ऐसे स्थल जहां आवश्यक से अधिक लाउडस्पीकर लगे थे उसे प्रशासन ने उतरवा दिया। साथ ही कोतवाल अवधेश मिश्रा की अगुवाई में पहुंची टीम ने सभी ताजियादरों और गणेशपूजा और दुर्गापूजा के सभी आयोजकों को सख्त हिदायत दिया है कि पांडालों में अनुमति से अधिक लाउडस्पीकतर लगाने की कोशिश की गई तो बड़ी कार्रवाई की जायेगी।

यहां पुलिस की खास नजर

बतादें कि जिस शेखपुर आशिक गांव में राजा भैया के पिता ठाकुर उदय प्रताप सिंह को हनुमान जयंती मनाने के लिए प्रशासन दो सालों से अनुमित नहीं दे रहा है पुलिस उस गांव में भी पहुंचकर अंजुमन कमेटी से 20 लाउडस्पीकर को उतरवा दिया। साथ ही कुंडा के गणेश पांडाल से 10 लाउडस्पीकर उतरवाया। पुलिस ने कहा है कि हाईकोर्ट के आदेश का अनुपालन न करने वालों पर कार्रवाई तय है।
डीएम ने सोमवार को ही दिए थे सख्ती के संकेत

प्रतापगढ़ के जिलाधिकारी शुभ कुमार ने सोमवार साफ कह दिया था कि प्रशासन किसी भी इलाके में कानून व्यवस्था को लेकर लापरवाही नहीं बरत सकता। किसी के दवाब को लेकर एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होने कहा था कि प्रशासन पूरी तरह से सक्षम है किसी का हम दबाव का सवाल ही नहीं उठता। उसके बाद ही मंगलवार को प्रशासन की कुंडा में सख्ती दिखाती है कि कुंडा में डीएम की खास नजर बनी है।

क्या है कुंडा में सख्ती और बाजार बंदी की वजह

दरअसल राजा भैया के पिता की ओर से हनुमान मंदिर पर एक विशेष भंडारा कराया जाता है। पर यह भंडारा ठीक मुहर्रम के दिन अखाड़े के जुलूस के रास्ते में पड़ने वाले हनुमान मंदिर पर कराया जाता है। इसमें बड़ी तादाद में लोग भी जुटते रहे हैं ऐसा कहा जाता है। तारीख और स्थान को लेकर आपत्ति हुई और मामला हाईकोर्ट पहुंच गया। इसके बाद कोर्ट ने भंडारे पर रोक लगा दी। पिछले दो सालों से लगी रोक इस बार भी बरकरार रही जिसके विरोध में एक दिन पहले ही बाजारवासियों ने प्रशासन पर हिंदू विरोधी होने के आरोप लगाते हुए बाजार को बंद कर दिया था। मंगलवार को भी प्रशासन की तरफ से सख्ती देखने को मिली।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned