कांग्रेस के गढ़ में पहली बारिश से ही जनता में प्रशासन और नेताओं के खिलाफ जलभराव को लेकर भारी आक्रोश

Madhav Singh | Updated: 11 Jul 2019, 09:55:20 PM (IST) Raebareli, Raebareli, Uttar Pradesh, India

कांग्रेस के गढ़ में पहली बारिश से ही जनता में प्रशासन और नेताओं के खिलाफ जलभराव को लेकर भारी आक्रोश

रायबरेली . कांग्रेस का गढ़ कहलाने वाला जिले का पानी के जल भराव से शहर हो या गांव सभी जगह बरसात की पहली बारिश से ही जिले की जनता में घरों में रहने परेशानियों का सामना कर रही है। इस बरसात में जगह - जगह सड़को के धसने से आने जाने वाले वाहनों को परेशानी हो रही है, जिससे आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पिछले 3 दिनों से हो रही लगातार बारिश लोगों के लिए मुसीबत बन चुकी है आप खुद देखिए किस तरह से रायबरेली शहर के कई इलाकों में पानी इस कदर भर चुका है कि लोगों का निकलना दूभर हो रहा है लोग अपने घरों से निकल नहीं पा रहे हैं कई परिवार तो अपने घर भी छोड़ चुके हैं बारिश में हुए जलभराव से नगरपालिका के कर्मचारियों की पोल खुल चुकी है जगह-जगह नालियां चोक हैं पानी निकलने के लिए कोई समुचित व्यवस्था नहीं की गई और ना ही बारिश को देखते हुए कोई तैयारी की गई है जिससे लोग परेशान हैं यही नहीं रायबरेली के जिला अस्पताल परिसर में हुए जलभराव किस तरह से अस्पताल परिसर में पानी भरा हुआ है लेकिन पानी निकलने की कोई व्यवस्था नहीं की गई है यहां पर आने वाले मरीज और तीमारदार भी काफी परेशान हैं रायबरेली शहर में सबसे ज्यादा सोनिया नगर के रहने वाले लोग बेहद परेशान हैं यहां के लोग तो अपना घर भी छोड़ने के लिए मजबूर हो रहे हैं कई परिवार जलभराव से परेशान होकर घर खाली कर चुके हैं लोगों का कहना है कि कई बार आला अधिकारियों को इस समस्या से निजात पाने के लिए ज्ञापन भी दिया गया लेकिन कोई समुचित व्यवस्था नहीं की गई है।

कांग्रेस के गढ़ में पहली बारिश से ही जनता में प्रशासन और नेताओं के खिलाफ जलभराव को लेकर भारी आक्रोश


रायबरेली की जिला अधिकारी नेहा शर्मा से शहर में हो रहे जलभराव को लेकर सवाल किया गया तो कहा कि बारिश का पानी निकलने की जगह पर कई अराजक तत्वों द्वारा मिट्टी डालकर अवरोध पैदा किया था जिन पर कार्यवाही भी की गई है । इसके साथ ही नगर पालिका से नालों की सफाई के आदेश दिए गए हैं ।अभी भी जिन लोगों ने पानी निकलने के रास्ते पर अवैध रूप से कब्जा किया है, उन पर कार्यवाही की जा रही है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned