कोविड अस्पताल का यह कैसा हाल? नग्न अवस्था में तपड़ती रही मरीज, डॉक्टर का कोई पता नहीं, हुई मौत

वीवीआईपी जिले में रेल कोच फैक्ट्री के कैंपस एलएल-2 हॉस्पिटल का यह है हाल, मरीज के तीमारदारों में भारी आक्रोश

By: Abhishek Gupta

Published: 16 Apr 2021, 09:38 PM IST

रायबरेली. उत्तर प्रदेश के वीवीआईपी जिले रायबरेली के रेल कोच फैक्ट्री कैंपस में बने एल 2 हॉस्पिटल में जो आज नजारा देखने को मिला उसे देख लोगों के रोंगटे खड़े हो गए। एक कोरोना पॉजिटिव व मानसिक रूप से कमजोर महिला नग्न अवस्था में वार्ड के बाहर फर्श पर पड़ी दर्द से कराहती रही। लेकिन डॉक्टर या नर्स कोई भी आस पास नहीं दिखा। बताया जा रहा है कि इस महिला की अब मौत हो गई। मरीज और तीमारदार का आरोप है कि डॉक्टर अपने कमरे से नहीं निकलते हैं, दवा तो दूर की बात है।

वायरल वीडियो पर तीमारदारों में आक्रोश

वीडियो वायरल होने के बाद तीमारदारों का कहना है कि डॉक्टर, नर्स या स्वास्थ्य कर्मी अपने कमरे से ही नहीं निकलते हैं। जिससे मरीजों को दवा, ऑक्सीजन नहीं मिल रही है। पेयजल की भी कोई व्यवस्था नहीं है। भीषण गर्मी में मरीज बूंद बूंद पानी के लिए भटक रहा है। तीमारदार रामू सिंह ने बताया कि अस्पताल में नियुक्त डॉक्टर अपने कमरे से बाहर नहीं निकलते हैं। अधिकांश मरीज दर्द, सांस लेने की दिक्कत जैसी बीमारी से ग्रसित हैं।

पुलिस ने दिया बयान-

अरुण कुमार सिंह, लालगंज एसओ ने मृत महिला के बारे में बताया कि वह मानसिक रूप से बीमार भी थी। कोरोना पॉजिटिव होने के कारण परिवार वालों ने इसे अस्पताल में छोड़ दिया था। उन्होंने बताया कि महिला खुद ही अपने कपड़े उतारने लगी। नर्सों ने कई बार उसे पहनाने की कोशिश की। लेकिन वह नहीं मानती थी।

अस्पताल की स्थिति वैस भी काफी खराब है। अस्पताल में नियुक्त सफाई कर्मचारी की लापरवाही से पूरे अस्पताल परिसर में कूड़े का अंबार फैला हुआ है। पानी पीने की कोई व्यवस्था नहीं है और भीषण गर्मी में मरीज इधर-उधर भटक रहे हैं। यह स्थिति तब है जब विगत गुरुवार को जनपद में रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ा दिया रिकॉर्ड 281 नए मामले दर्ज हुए थे। मरने वालों में लालगंज, सालोन, महाराजगंज, हरचंदपुर, सताओ इलाके के संक्रमित शामिल थे।

अस्पताल प्रभारी डॉ मनोज शुक्ला ने बताया कि यहां पर 102 मरीज भर्ती हैं। जिनमें से 30 की हालत गंभीर है। 21 मरीज को ऑक्सीजन पर रखा गया है। विगत गुरुवार को 12 मौतों में नौ इसी अस्पताल में हुई हैं।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned