दो ठेकेदारों का टेंडर निरस्त, नगर निगम ने इसलिए की कार्रवाई...

दो ठेकेदारों का टेंडर निरस्त, नगर निगम ने इसलिए की कार्रवाई...

Vasudev Yadav | Publish: Apr, 16 2019 06:49:06 PM (IST) | Updated: Apr, 16 2019 06:49:07 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

- निर्माण कार्य का टेंडर लेकर नहीं किया जा रहा था काम

रायगढ़. टेंडर लेकर निर्माण कार्य नहीं करने वाले ठेकेदारों पर लंबे समय की मेहरबानी के बाद नगर निगम एक बार फिर कार्रवाई के मूड में आ गई है। नगर निगम आयुक्त ने दो ठेेकेदारों का टेंडर निरस्त करते हुए उनकी अमानत राशि राजसात करने का निर्देश दिया है। यह ठेकेदार निर्माण कार्य का ठेका तो ले लिया था, लेकिन निर्माण कार्य शुरू ही नहीं कर रहे थे। इस बात को लेकर कार्रवाई की गई।

नगर निगम में ठेकेदारों की मनमानी चल रही है। यह स्थिति पिछले एक साल से बनी हुई है। एक साल पहले नगर निगम ने शहरी क्षेत्र के 48 वार्डों से दो सौ से अधिक डामरीकरण एवं कांक्रीटीकरण सड़क का अलग-अलग टेंडर किया था। इसमें ठेकेदारों ने टेंडर ले लियाए लेकिन निर्माण कार्य शुरू नहीं किए। निर्माण कार्य नहीं करने वाले में वे ठेकेदार थे जो निर्माण कार्यों को कम दर बिलोद्ध में काम लिए थे। करीब तीन से चार माह बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो तात्कालीन नगर निगम आयुक्त ने निर्माण कार्य नहीं करने वाले ठेकेदारों का टेंडर निरस्त करने का आदेश जारी किया। वहीं संबंधित ठेकेदारों की अमानत राशि भी राजसात करने का आदेश दिया। शुरुआत में करीब 9 ठेकेदारों के टेंडर निरस्त करते हुए अमानत राशि राजसात की गई।

Read More : हवस मिटाने नाबालिग को मंगलसूत्र पहनाकर ले गया बैंगलोर, सालभर की अय्याशी, फिर...

 

इसके अलावा करीब दो से तीन ठेकेदारों पर भी कार्रवाई हुईए लेकिन इसके बाद मामला पूरी तरह से शांत हो गया था। लंबे समय बाद नगर निगम आयुक्त ने अब सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि दो ठेकेदारों का टेंडर निरस्त करते हुए उनके अमानत राशि को राजसात किए जाने का आदेश दिया गया है। बताया जा रहा है कि संबंधित ठेकेदारों को काम शुरू करने के लिए तीन नोटिस जारी किया गया था। इसके बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया। इस बात को लेकर कार्रवाई की गई है।

इन ठेकेदारों पर पहले हो चुकी है कार्रवाई
शहरी क्षेत्र में निर्माण कार्यों का टेंडर लेने वाले 12 ठेकेदारों को नगर निगम ने नोटिस जारी किया है। इसमें शौर्य कंट्रक्शन, शैलजा कंट्रक्शन, शांति कंट्रक्शन, गणपति, अनिल डालमिया, आदि शक्ति इंटरप्राइजेज, अनिल सिंह चंदेल फर्म शामिल हैं। इसके अलावा संजय अग्रवाल, जय मां भगवती, संतोष कुमार अग्रवाल, राज कुमार जायसवाल व सुरेश कुमार धीवर फर्म भी है।

लोग हो रहे परेशान
यह सड़क तीन वार्डों से होकर गुजरता है। इसमें वार्ड क्रमांक 16, तीन व चार शामिल है। इस सड़क पर निर्माण किए जाने की स्वीकृति करीब एक साल पहले मिल चुकी थी। इसके बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ। ऐसे में क्षेत्र के तीनों पार्षदों ने नगर निगम आयुक्त को ज्ञापन भी सौंपा था। इस दौरान नगर निगम के अधिकारियों ने जल्द निर्माण शुरू कराए जाने का आश्वासन भी दिया थाए लेकिन निर्माण कार्य अब तक शुरू नहीं हो सका।

आए दिन हो रहे हादसे
इस सड़क का निर्माण बैकुंठपुर के राजा बिस्कुट फैक्ट्री के पास से निर्माण शुरू किया जाना है और जगतपुर स्थित होंडा शो रूम तक जाना है। निर्माण के अभाव में इस सड़क की हालत पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है। खास बात यह है कि इस मार्ग पर स्कूल भी संचालित है। जहां हर दिन सैकड़ों बच्चों व अभिभावक आवागमन करते हैं। जर्जर सड़क की वजह से आए दिन हादसे भी हो रहे हैं।

- निर्माण कार्य शुरू नहीं होने वाले दो टेंडर निरस्त किए गए हैं। तीन नोटिस जारी किए जाने के बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया। ऐसे में यह कार्रवाई की गई। संबंधित ठेकेदारों की अमानत राशि भी राजसात होगी- रमेश जायसवाल, आयुक्त, नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned