मुसीबत से बचने के लिए स्पीड पोस्ट से भेजेंगे अंतिम नोटिस, लगातार छुट्टियों से कुछ दिन और मिली राहत

मुसीबत से बचने के लिए स्पीड पोस्ट से भेजेंगे अंतिम नोटिस, लगातार छुट्टियों से कुछ दिन और मिली राहत

Shiv Singh | Publish: Sep, 03 2018 07:35:11 PM (IST) Raigarh, Chhattisgarh, India

41 ठेकेदारों को भेजा जाना है अंतिम नोटिस

रायगढ़. अंतिम नोटिस में ठेेकेदार किसी प्रकार से पेंच नहीं फंसाए इस बात को लेकर निगम अंतिम नोटिस स्प्रीड पोस्ट से भेजेगी। हालांकि रविवार व सोमवार को लगातार दो छुट्टी एक साथ होने पर यह काम लटक गया, लेकिन यह कहा जा रहा है कि मंगलवार को इसे प्राथमिकता से किया जाएगा। यह नोटिस टेंडर लेकर नहीं करने वाले 41 ठेकेदारों को दिया जाना है।


नगर निगम ने 41 ठेकेदारों के नाम से अंतिम नोटिस तैयार कर दिया है, लेकिन यह नोटिस डिस्पेच नहीं हो सका है। इसके पीछे कारण यह है कि यह फाइल तीन अधिकारियों के टेबल से होकर गुरजना है।

पहले यह एई के पास पहुंचेगा। इसके बाद ईई और फिर अंतिम नोटिस में अंतिम मुहर नगर निगम आयुक्त की लगेगी। इस प्रक्रिया से गुजरने के बाद ठेकेदारों को भेजा जाएगा। हालांकि नोटिस बांटने का काम पहले नगर निगम के कर्मचारियों के द्वारा ही किया जाता था, लेकिन कई बार इस तरह की स्थिति निर्मित हो चुकी है कि जब नगर निगम के कर्मचारी नोटिस लेकर पहुंचते थे, तब ठेकेदार के परिजन यह कह देते थे कि संंबंधित घर पर नहीं है और वे नोटिस नहीं ले सकते।

इससे निगम का कर्मचारी नोटिस लेकर लौट आता था। वहीं ठेकेदार नोटिस नहीं मिलने का हवाला देते हुए निगम अधिकारियों पर ही चढ़ाई करता था। इस स्थिति से निपटने के लिए नगर निगम अब संबंधित ठेकेदारों को स्प्रीड पोस्ट से अंतिम नोटिस भेजेगी। ताकि यह डाक विभाग की ओर से संबंधितों के पास पहुंचे। यदि इस समय भी कोई ठेकेदार या उनके परिजन नोटिस लेने से इंकार करते हैं तो डाक विभाग इस बात को नोटिस में इंगित करते हुए इसकी जानकारी देगा। सबूत के तौर पर यह जानकारी निगम के पास रहेगी।


मंगलवार को होगी डिस्पैच
ठेकेदारों को अंतिम नोटिस नगर निगम के लोक कर्म विभाग से जारी किया जाना है। 41 ठेकेदारों के नाम से अंतिम नोटिस जारी किया जा चुका है। अब यह नोटिस की फाइल एई, ईई व आयुक्त के पास पहुंचेगी। इधर दो दिन लगातार छुट्टी होने की वजह से यह काम आगे नहीं बढ़ सका, लेकिन यह कहा जा रहा है कि मंगलवार को यह नोटिस डाक विभाग के पास पहुंच जाएगा।


इन ठेकेदारों ने रोका है काम
ठेकेदार कितने काम कार्य की लागत
गणपति कंट्रक्शन 15 काम 2 करोड़ 76 लाख 37 हजार रुपए
रितेश पांडेय फर्म 05 काम 91 लाख 4 हजार रुपए
अनिल डालमिया 05 काम 58 लाख 94 हजार रुपए
संजय अग्रवाल 02 काम 47 लाख 98 हजार रुपए
विकास तिवारी 02 काम 29 लाख 76 हजार रुपए
शौर्य कंट्रक्शन 01 काम 6 लाख 47 हजार रुपए


-टेंंडर लेकर काम नहीं करने वाले ठेकेदारों के टेंडर को निरस्त करना है। इसकी प्रक्रिया चल रही है। जल्द ही संबंधित ठेकेदारों को अंतिम नोटिस भेजते हुए टेंडर निरस्त किया जाएगा।
-आरके भोजसिया, ईई, नगर निगम

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned