केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से जुड़ी ये 10 बातें

Chandu Nirmalkar

Publish: Nov, 14 2017 03:29:43 (IST) | Updated: Nov, 14 2017 03:41:59 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से जुड़ी ये 10 बातें

इन 10 प्वाइंट में जानें केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के राजनीतिक कैरियर...

रायपुर . भिलाई में हुए स्टार्टअप इंडिया के कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज का युवा 20-25 हजार रुपए की नौकरी करने से बेहतर नौकरी देने वाला बनना चाहता है। वे अपने भाषण में शुरूआत से अंत तक युवाओं के विकास के बारे में ही बात किया। युवाओं को गुरु की तरह एक अच्छी शिक्षा दी है। इस मौके पर आज हम युवाओं के लिए उनके जीवन से जुड़ी कुछ अनछुए पहलुओं को शेयर कर रहे हैं जिसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। इन 10 प्वाइंट में जानें मंत्री पीयूष गोयल के राजनीतिक कैरियर...

- 53 वर्षीय पीयूष गोयल भारत सरकार के रेल मंत्री और कोयला मंत्री हैं। वर्तमान में राज्यसभा सदस्य है और इससे पहले वे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष थे।

- मंत्री गोयल ऑल इंडिया चार्टर्ड अकाउंटेंट एग्जाम में 1th रैंक होल्डर भी रहे। उन्होंने Yale विश्वविद्यालय 2011, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय 2012 और प्रिंसटन विश्वविद्यालय 2013 में नेतृत्व कार्यक्रम में भाग लिया है और वर्तमान में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में Owner/President Management (OPM) कार्यक्रम में लगे हुए है।

- मुंबई यूनिवर्सिटी से पीयूष वकालत में सेकंड रैंक होल्डर भी रहे। सीमा गोयल जो की जानी मानी सोशल वर्कर है। इनके साथ 1 दिसबंर 1991 में शादी किया है। गोयल दम्पति के 2 बच्चे है जो हारवर्ड यूनिवर्सिटी में पढाई कर रहे हैं।

- मंत्री गोयल 2001 से 2004 तक वह बैंक ऑफ बड़ौदा के निदेशक थे। 2004 में उन्हें भारतीय स्टेट बैंक के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। वे भारत सरकार में नदियों के इंटरलिंकिंग के लिए टास्क फोर्स के सदस्य भी थे।

- मंत्री गोयल के पिता स्वर्गीय वेदप्रकाश यूनियन मिनिस्टर ऑफ शिपिंग और बीजेपी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष थे। मां चंद्रकांता गोयल भी लंबे समय से बीजेपी से जुड़ी हुई है। वे महाष्ट विधानसभा से लगातार तीन बार विधायक बनी।

-2015 में जब ओबामा भारत दौरे पर आए थे। उस वक्त गोयल मिनिस्टर इन वेटिंग थे।

- गोयल ने कई स्वयंसेवी संगठनों से खुद को जोड़ा है। यह एनजीओ समाज के निचले वर्गों को शिक्षा प्रदान करते हैं और शारीरिक रूप से अक्षम लोगों की आवश्यकताओं और कल्याण के बाद दिखते हैं।

- मंत्री गोयल डॉन बॉस्को हाई स्कूल माटुंगा के पूर्व छात्र हैं।


- इनके नेतृत्व में 6 करोड़ एलईडी बल्बों को बांटा गया था।

- बुलेट ट्रेन से जुड़े सवालों के जवाब देने के लिए QUORA पर आए। इनके जवाब को 33000 लोगों ने देखा और रिप्लाई किया था।

-पीयूष गोयल की ऑफिसियल वेबसाइट, http://www.piyushgoyal.in/

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned