रायपुर में कोरोना के 700 से ज्यादा मरीज, यहां भी अंबिकापुर मॉडल की जरुरत

रायपुर के कोरोना हॉट स्पॉट बन गया है। ऐसे में आवश्यकता है तत्काल ठोस निर्णय लेने की। जैसे लॉकडाउन।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 13 Jul 2020, 08:07 AM IST

रायपुर. रायपुर में रविवार को 99 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। यह अब तक प्रदेश के किसी भी जिले में 24 घंटे में मिलने वाले मरीजों की सर्वाधिक संख्या है। रायपुर के कोरोना हॉट स्पॉट बन गया है। ऐसे में आवश्यकता है तत्काल ठोस निर्णय लेने की। जैसे लॉकडाउन। हमारे अंबिकापुर जिले और देश के कुछ प्रमुख शहरों के द् प्रशासन ने बिगड़ते हालात के मद्देनजर अपने-अपने स्तर पर लॉकडाउन लगा दिया है। क्या अंबिकापुर मॉडल रायपुर में भी लागू करने की जरूरत है? सूत्रों के मुताबिक अंदरूनी तौर पर इस पर विचार जारी है, मगर अभी कोई भी अधिकारी खुलकर इस पर कुछ नहीं कह रहा। सूत्र यह भी बताते हैं कि पूर्व की तरह शनिवार-रविवार को लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

राजधानी में संक्रमित मरीजों की संख्या 700 का आंकड़ा पार कर गई। स्पष्ट है कि अब यहां कोरोना वायरस पूरी तरह से अपने पैर पसार चुका है। गली-मोहल्ले, बस्तियों, कॉलोनियों, अपार्टमेंट से लेकर अब ऐसा कोई क्षेत्र नहीं बचा है जहां कोरोना न पहुंचा हो। मंत्रालय के गेट से लेकर सीएम हाउस के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मी संक्रमित पाए जा चुके है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने 'पत्रिका' से बातचीत में कहा है कि राज्य में लॉकडाउन का फैसला मुख्यमंत्री लेंगे। जहां तक जिलों की बात है तो कलेक्टर इसके लिए स्वतंत्र है। केंद्र सरकार के नियमों को हस्तक्षेप किए बगैर वे परिस्थितियों के मुताबिक निर्णय ले सकते हैं। उन्हें सभी अधिकार दिए गए हैं।


नो मास्क, नो राशन की भी जरूरत
दूसरे राज्यों के कुछ जिलों में वायरस को नियंत्रित करने के लिए कई सख्तियां की हैं। जैसे नो मास्क, नो राशन। नो मास्क नो पेट्रोल-डीजल को मास्क,नो सेलिंग। इन पर प्रशासन चाहे तो चैंबर ऑफ कॉमर्स, अन्य व्यापारी संगठनों से बात करके लागू कर सकता है। अगर, कोई दुकानदार नियम तोड़ता है तो उस पर कार्रवाई होगी। उपभोक्ता तोड़ते हैं तो उन पर होगी ही होगी।

रायपुर में सर्विलांस की ये कवायद
डोर डोर सर्वे, बीमारियों से ग्रसिका का रेकॉर्ड जुटाया जा रहा है। भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों फल- सब्जी वाले फेरी वालों की रेडम सैंपलिंग की जा रही है। एंटीजन किट का इस्तेमाल शुरू कर दिया गया है, सैंपलिंग-टेस्टिंग बढ़ाई गई है।

फ्रंटलाइन वॉरियर्स का दुश्मन बना कोरोना
सांसद, मंत्री के पीएसओ कोरोना संक्रमित हैं। बड़ी संख्या में सीआरपीएफ, बीएसएफ, पुलिस जवान संक्रमित मिल रहे हैं। स्वास्थ्यकर्मी भी खुद को वायरस से हीं बचा पा रहे। सफाईकर्मी समेत यूटी पर तैनात अधिकारी कर्मचारियों की भी यही स्थिति है। मगर, सब ड्यूटी पर डटे हुए हैं।

कुछ नहीं कह सकते
अभी लॉकडाउन को लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता। समय व परिस्थितियों के हिसाब से फैसला लिया जाएगा। सुनीता साहू, अपर मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री

coronavirus Coronavirus causes
Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned