भाजपा ने विधानसभा विशेष सत्र से किया वाकआउट, मंडी संशोधन विधेयक पर मोहन मरकाम के संबोधन किया विरोध

- छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र में कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के बयान पर बीजेपी नेताओं ने विरोध जताया. बीजेपी विधायकों ने मोहन मरकाम के संबोधन को सुनने से इनकार कर दिया और सदन से बाहर चले गए .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Oct 2020, 09:24 PM IST

रायपुर। मंगलवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र में भाजपा विधायकों ने मोहन मरकाम के भाषण का बहिष्कार किया। भाजपा सदस्यों ने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह पर उनके बयान के विरोध में सदन से वॉकआउट किया। मोहन मरकाम ने दोनों नेताओं को शराब सेवन करने वाला बताया था। भाजपा सदस्यों ने की माफी की मांग भाजपा सदस्यों ने मोहन मरकाम से उनके बयान पर मााफी मांगने की मांग की। लेकिन जब मोहन मरकाम ने माफी नहीं मांगी तो बीजेपी ने सदन से वॉकआउट कर दिया। इसके बाद बीजेपी सदस्यों की गैरमौजूदगी में कृषि उपज मंडी संशोधन विधेयक पर चर्चा हुई। हालांकि बाद में भाजपा सदस्य वापस लौट आए।

क्या है कृषि उपज मंडी संशोधन विधेयक
सोमवार को रायपुर सीएम हाउस में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में नए कृषि कानून समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। जिसमे छत्तीसगढ़ कृषि उपज मण्डी (संशोधन) विधेयक-2020 (Agricultural Produce Market Amendment Bill 2020) के प्रारूप का अनुमोदन किया गया। राज्य शासन द्वारा वर्ष 2012 में राज्य के ग्रामीण अंचलों के त्वरित और सर्वांगींण विकास की पूर्ति के लिए वर्तमान में विकास कार्यो की स्वीकृति के लिए गठित छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण एवं अन्य पिछड़ा वर्ग क्षेत्र विकास प्राधिकरण के पुनर्गठन के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। छत्तीसगढ़ आबकारी नीति वर्ष 2013-14 के क्रियान्वयन के संबंध में प्रदेश में नशा मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के लिए छत्तीसगढ़ शराब व्यसन मुक्ति अभियान (भारत माता वाहिंनी योजना) को समाज कल्याण विभाग को सौंपने का निर्णय लिया गया।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned