रविवि के छात्र अब निकटतम परीक्षा केंद्र से ले सकेंगे उत्तर पुस्तिका

छात्रों को रविवि प्रबंधन ने दी बड़ी राहत

By: Gulal Verma

Published: 18 Sep 2020, 05:12 PM IST

रायपुर। कोरोना संक्रमणकाल में परीक्षा दिलाने वाले पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय व उससे संबद्ध महाविद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए राहत की खबर है। अब किसी भी सेंटर के विद्यार्थी अपने निकटतम परीक्षा केंद्र से उत्तर पुस्तिका ले सकेगा और जमा भी कर सकेगा।

इस तरह होगी प्रक्रिया
विश्वविद्यालय के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार निकटतम परीक्षा केंद्र से उत्तर पुस्तिका लेने और उसे जमा करने के लिए विद्यार्थियों को परीक्षा से पूर्व संपर्क करना होगा। इनरोलमेंट नंबर परीक्षा केंद्र प्रभारी को बताने पर उत्तर पुस्तिका अलॉट कर दी जाएगी और परीक्षा के बाद उसे जमा कर लिया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से उत्तर पुस्तिका को परीक्षार्थी वाट्सऐप ग्रुप और विश्वविद्यालय द्वारा बताए गए मेल आईडी पर भी भेज सकेंगे।

दो लाख उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण
गुरुवार को रविवि और उसके अधीनस्थ महाविद्यालयों ने प्रदेशभर में लगभग दो लाख उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण किया। विद्यार्थियों को कोरोना संक्रमण में परेशानी ना हो, इसके लिए सभी केंद्र प्रभारियों को जल्द निर्देश जारी किया जाएगा।

२५ सितंबर से होगी परीक्षा
अंतिम सेमेस्टर और वार्षिक परीक्षा के अंतिम वर्ष के परीक्षार्थियों की परीक्षा २५ सितंबर से शुरू होगी। स्नातक स्तर पर अंतिम वर्ष के बीए, बीकॉम, बीएससी, बीएड समेत अन्य कक्षाओं की परीक्षाओं के साथ-साथ बीएड और बीपीएड की चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा भी होगी। विश्वविद्यालय प्रबंधन के अनुसार स्नातकोत्तर स्तर पर एमए, एमएससी और एम कॉम के अंतिम वर्ष की परीक्षा होगी। ऑनलाइन, मेल, वॉट्सऐप के जरिए 30 मिनट पहले प्रश्न पत्र केंद्रों को भेजे जाएंगे। परीक्षा प्रारंभ होने के 30 मिनट पहले प्रश्न पत्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड भी कर दिया जाएगा। मेल और वाट्सऐप के माध्यम से प्रथम और द्वितीय वर्ष के परीक्षार्थियों को असाइनमेंट भेजा जाएगा।

कोरोना संक्रमणकाल के मद्देनजर विद्यार्थियों को राहत देने के लिए रविवि के अधीनस्थ केंद्रों को निर्देश जारी किया जाएगा कि विद्यार्थी किसी भी केंद्र को हो, उन्हें उत्तर पुस्तिका दी जाए और परीक्षा के बाद वापस ली जाए। पूरी प्रक्रिया में नियमों का पालन हो, इसलिए सावधानी बरतने का निर्देश दिया जाएगा।
- प्रो. गिरिशकांत पांडेय, कुलसचिव, पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned