6 राइस मिल के बिजली कनेक्शन काटने के आदेश

कस्टम मिलिंग में लापरवाही

By: Gulal Verma

Published: 18 Sep 2020, 05:37 PM IST

रायपुर। खरीफ विपणन वर्ष-2019-20 में कस्टम मिलिंग के लिए पंजीयन कराने के बाद भी धान का उठाव नहीं करने तथा पंजीयन नहीं कराने वाले जिले के छह राइस मिलों के बिजली कनेक्शन काटने के आदेश कलेक्टर ने दिए हंै। इसके बाद इन मिलरों को ब्लेक लिस्टेड भी किया जा सकता है। इससे संबंधित राइस मिलरों में हड़कंप मच गया है।

शासन के निर्देशानुसार जिले के धान खरीदी केन्द्रोंं में समर्थन मूल्य में लक्ष्य से ज्यादा धान की खरीदी की गई है। धान का उठाव करने के लिए नियमानुसार राइस मिलरों को अनुबंध करना था। जिले में अरवा और उसना राइस मिल संचालित हो रही हंै। मिलिंग के लिए कुछ मिलरों ने पंजीयन कराया, तो कुछ ने पंजीयन कराने में दिलचस्पी नहीं दिखाई। ऐसे में विभागीय अधिकारियों को परेशान होना पड़ा। लापरवाह मिलरों की शिकायत कलेक्टर से की गई थी।

इन पर हुई कार्रवाई

कस्टम मिलिंग में लापरवाही बरतने पर रायपुर जिले के तिरुपति राइस मिल पारागांव, पराग ट्रेडर्स पटेवा, राधा कृष्ण राइस मिल पारागांव, मां मौली राइस इंडस्ट्रीज आमासिवनी, संजय ग्रेन प्रोडक्ट प्राइवेट लि. विधानसभा रोड, सत्यम बालाजी राइस इंडस्ट्री लिमिटेड आमासिवनी का बिजली काटने आदेश दिया गया।


कस्टम मिलिंग कार्य में लापरवाही बरतने वाले जिले के छह राइस मिलरों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। कुछ राइस मिल का विद्युत कनेक्शन काटा जाएगा।

- अनुराग भदौरिया, खाद्य नियंत्रक, रायपुर

Gulal Verma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned